backReena Chouhanback

Reena Chouhan

@reenachouhan

Teacher

keep your face to the sunshine and you can not see shadow 🙂

calenderwww.instagram.com/reena_chouhan777

calender July 2020 में कू पर आए।

कू (679)
पसंद किया
रिकू और कमेंट
मेंशन्स
Teacher
इस सफर में नींद ऐसी खो गयी, हम न सोये रात थक कर सो गयी !! #koo और सभी सदस्यों का दिल से आभार...700K फोल्लोवेर्स पूर्ण हुए.. 🙏 शुभरात्रि 🌙🌠🌝
like32
re4
WhatsApp
Teacher
प्रेम में उतना डूबो जितना डूबती है.. पानी में नाव की तली ; ऐसे कि, पानी में बनता रहे रास्ता और चलता रहे जीवन!!
like38
re6
WhatsApp
Teacher
11 मई 1998 को भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी एवं एपीजे अब्दुल कलाम जी के नेतृत्व में भारत ने पोखरण परमाणु परीक्षण किया था। “राष्‍ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस“ पर देश के समस्त वैज्ञानिकों, अभियंताओं, तकनीकी विशेषज्ञों तथा सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। #nationaltechnologyday
like127
re22
WhatsApp
Teacher
आज का समय ठीक नहीं हैं.. आप सभी अपनी सेहत का ध्यान रखें.. सांस में तकलीफ या बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाए.. 2 दिन की लापरवाही भी ठीक नहीं.. जीवन से बढ़कर कुछ नहीं हैं.. स्वयं को बचाये रखना भी प्रार्थना है.. 🙏
like61
re12
WhatsApp
Teacher
आज का गणित-- बेलगाम इच्छाएं आय के त्वरित साधन दूषित खानपान विलासी रहन-सहन + कुन्ठित सोच ______________________________ वानप्रस्थ और संन्यास से पूर्व मोक्ष _______________________________
like99
re19
WhatsApp
Teacher
ईश्वर धैर्य, विनम्रता और करुणा के द्वारा आपको संदेश देता है...प्रकृति आवेग, बेरुख़ी और क्रूरता के साथ समझाती है... अफसोस की बात ये है कि इंसानों को ईश्वर का तरीका पसंद नहीं आता ....
like63
re10
WhatsApp
Teacher
लहरें तो आती जाती रहेंगी... आप महासागर बने रहें... 😊🙏 #तीसरीलहर
like58
re7
WhatsApp
Teacher
खुद गीले में सोइ, जागी कितनी रात। तब हम सीखे बोलना, करनी आयी बात।। #मातृदिवस #mothersday2021
like173
re28
WhatsApp
Teacher
जीवन की हर समस्या ट्रैफिक की “लाल बत्ती“ की तरह होती है, यदि हम थोड़ी देर प्रतीक्षा करलें, तो वह हरी हो जाती है... “धैर्य रखें, प्रयास करें,समय बदलता ही है..!“
like102
re8
WhatsApp
Teacher
जो हम प्रकृति को देते हैं, प्रकृति वह हमें वापस लौटा देती है... इंसान ने प्रकृति को प्लास्टिक में लपेट दिया... आज प्रकृति ने भी इंसान को प्लास्टिक में लपेट दिया...!
like192
re32
WhatsApp
ask