koo-logo
back
R P Gangwar
back

R P Gangwar

@r_p_gangwar

Retired officer

Nationalist, Sanatani, thinker, spritual and poet

calender Joined on Jan 2021

KooKoo(1022)
LikedLiked(101140)
Re-Koo & CommentRe-Koo & Comment(55298)
dropdown-menu
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (२६) मनुष्य के अवचेतन मन में स्वभाव, संस्कार, भय, विश्वास इत्यादि भरे हुए होते हैं। यह सभी भूतकाल में घटित घटनाओं से उत्पन्न भावों के पक जाने से सृजित होते हैं। संस्कार तो जन्म जन्मातर के कर्म, स्वभाव व मां बाप के संस्कारों से मिलकर बनते हैं। सुसंगति, स्वाध्याय और सतत् प्रयास करके,अपने स्वभावों और संस्कारों को उन्नत करते रहना ही मानव जीवन का मुख्य उद्देश्य होता है। जय श्रीकृष्णा मित्रो।
comment
28
dropdown-menu
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (४४) मित्रो आंखे खोलकर देखो! बंगाल, महाराष्ट्र, झारखंड, केरल आदि गैर भाजपा शासित राज्यों में हिन्दुओं की क्या हालत है? केन्द्र में भाजपा नहीं थी तो हिंदुत्व की आवाज उठाने वाले प्रश्रा ठाकुर जैसे लोगों का क्या हाल किया गया था? गुरुप-वाजी छोड़कर साथ आओ, यदि किसी विषय पर मतभेद है तो उस विषय को छोड़कर अन्य विषयों पर साथ रहो। क्यों कि मौका निकल गया तो हिंदुत्व की बात भी नहीं कर पाओगे।
comment
41
dropdown-menu
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (२५) ईश्वर ने मानव मन को अनेक विभूतियां देकर भेजा है। तीन प्रकार के मन (चेतन, अवचेतन और अतिचेतन) आपके भूत, वर्तमान और भविष्य की गतिबिधियों को जानने और नियन्त्रण करने की क्षमता रखते हैं। चेतन मन वर्तमान में हो रही गतिविधिओं को देखता,नियन्त्रित करता है ।इसके अतिरिक्त भूत तथा भविष्यति के बारे में सोचने को भी उकसाता है। मन का नियन्त्रण भगवान ने हमें दे रखा है। जय श्रीकृष्णा मित्रो।
comment
39
dropdown-menu
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (४३) गांधी जी सारी जिन्दगी राम राम करते रहे, और राम नाम की आड़ लेकर हिन्दुओं को कटबाते रहे। नेहरु अपने नाम मे पंडित लगाकर हिन्दुओं को छलते रहे, उनकी संस्कृति मिटाते रहे। परदे के पीछे सबकुछ होता रहा, यहां तक सेवा के नाम पर धर्मपरिवर्तन कराने वाली मदर टैरिसा को भारत रत्न एवार्ड से नवाजा गया। कई प्रदेशों में हिन्दू अल्पसंख्यक हो गये। अगर मोदी न आते तो हिन्दुओं को कुछ पता ही न चल पाता?
comment
40
dropdown-menu
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (२४) आप जो भी सोचते हैं वह विचार तरंगों के रूप मे वातावरण में फैल जाता है। विज्ञान की भाषा में विचार तरंगे,ध्वनि तरंगों का अति सूक्ष्म स्वरुप होतीं हैं। आध्यात्म तो पहले से ही मानता है कि सोचा गया विचार तरंगों के रूप मेंअंतरिक्ष में फैल कर परोक्ष जगत को प्रभावित करता रहता है। अच्छे विचार अंतरिक्ष में फेंकने से परोक्ष जगत परिष्कृत होकर, मानसिक प्रदूषण समाप्त करता है। जय श्रीकृष्णा मित्रो।
comment
45
dropdown-menu
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (४२) आज विश्व के रचनाकार भगवान विश्वकर्मा की जयंती है और वर्तमान विश्व के नव निर्माता परम आदरणीय मोदीजी की भी जन्म जयंती है। आज विश्व की दो महाशक्तियों को अगर कोई साध रहा है तो वह मोदी जी हैं! भारत को विश्वगुरू की भूमिका ओर ले जा रहे प्रखर व्यक्तिव के धनी श्री मोदी जी के लिए हृदय से बहुत बधाई। ईश्वर आपको सामर्थ्य, शक्ति और दीर्घायु प्रदान करें।🙏
comment
44
dropdown-menu
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (२३) योगेश्वर भगवान श्रीकृष्ण का गीता में दिया उपदेश, कर्म करो फल की इच्छा न करो, दुनिया की सबसे कठिन साधना है। उदाहरण के तौर पर कोई खिलाड़ी बिना हारजीत की भावना से खेलने लगे तो वह दुनिया का सबसे उत्तम खिलाड़ी बन जाएगा। जानने से नहीं,अपितु साधना करने से इसकी थोड़ी बहुत प्राप्ति हो हो पाती है। श्रीकृ्ष्ण के अतिरिक्त और कोई नहीं जो शत् प्रतिशत इसे अपने जीवन में उतार सके। प्रयास करो बस।🙏
comment
65
dropdown-menu
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (४१) सो रहे हो जाग जाओ, धर्म संस्कृति को बचाओ। घोर संकट आ पड़ा है, शत्रु अब दर पर खड़ा है। क्रान्ति के उठते स्वरों में, एक स्वर मेरा मिलाओ। सो रहे हो जाग जाओ, सो रहे हो जाग जाओ।। आर. पी गंगवार! सब आपसी मतभेद भुलाकर इतनी जोर से आवाज लगाओ, कि सेकुलरों के कानो के परदे हिल जाएं।
comment
54
dropdown-menu
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (२२) विज्ञान के अनुसार हमारी इन्द्रयों के कार्य निर्धारित होते हैं, पर इससे इतर, इन्द्रियां अनेक ऐसी शक्तियां भी रखतीं हैं जो विज्ञान से परिभाषित नहीं हो सकती। जैसे विज्ञान के अनुसार नेत्रों का कार्य, सामने रखी बस्तु की फोटो खींचकर उसे दिमाग को फारवर्ड करना भर है। किसी के अन्दर उठे क्रोध, प्रेम, घृणा,करुणा आदि को यह आंखें बिना बोले ही कैसे व्यक्त कर देतीं हैं? जय श्रीकृष्णा मित्रो।
comment
48
dropdown-menu
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (४०) मित्रो आपके सामने जो युद्ध में खड़ा है,वह कितना शक्तिशाली है? मापन कर लीजिए। दो धर्म,दोगले हिन्दुओं से मिल,संगठित प्रहार करने की योजना पर कार्यरत हैं। बहुत दुख होता है जब छोटी छोटी बिसंगतियों पर बेवजह टकराव, ईर्षाद्वेश से अपनी ढ़पली अपना राग सुनाई देता है। उद्देश्य एक तो निशाना भी एक ही रखिए। मोदी जी अपनी अद्भुत संगठन शक्ति से कैसे लोगों को जोड़ते हैं? हमेशा सकारात्मक।
comment
35