koo-logo
koo-logo
back
Dr Pranayan M Pathak
shareblock

Dr Pranayan M Pathak

@pranayan

Astrologer

अपनी राय कू करें

calenderwww.pranayanpathak.co.in

calender Joined on June 2021

KooKooKoo(62)
LikedLikedLiked(4)
Re-Koo & CommentRe-Koo & CommentRe-Koo & Comment
img
@pranayan

Astrologer

6 मंगल - रक्तनाश, फोड़े, फुंसी, मुहाँसे, खुजली, नाक का रोग, गुहा रोग, चीर फाड, रक्त दोष, पित्त, अंड वृद्धि, व्रण रोग, अग्निपीडा आदि रोग हो तो मंगल के तांत्रिक मंत्र या वेद मंत्र के 40 हज़ार जाप करने से लाभ होता है
commentcomment
img
@pranayan

Astrologer

2 चन्द्रमा - पेट में विकार, छााती में तकलीफ, जलोदरक, सर्दी का बुखार, स्त्री प्रदर रोग, आर्तव दोष, अपस्मार, मृगी, सहन आदि रोग हो तो चंद्र के तांत्रिक मंत्र या वेद मंत्र के 44 हज़ार जाप करने से लाभ होता है ।
commentcomment
img
@pranayan

Astrologer

ग्रह जन्य रोग और उपाय 1 सूर्य -हृदय का भाग, सिर एवं मुख पीडा़, रक्तस्त्राव, नेत्र पीडा, दृष्टि दोष, हृदय रोग, मूर्छाा, बुखार, पित्त, पीठ व पैरो में दर्द आदि रोग हो तो सूर्य के तांत्रिक मंत्र या वेद मंत्र के 28, हज़ार जाप करने से लाभ होता है
commentcomment
img
@pranayan

Astrologer

7 शनि -जोडो का दर्द, गठिया, वायु विकार, क्षय रोग, खाँसी, दमा, दाढ का दर्द, अपचन, वात विकार, नपुंसकता, दीर्घकालीन रोग आदि रोग हो तो शनि के तांत्रिक मंत्र या वेद मंत्र के 92 हज़ार जाप करने से लाभ होता है
commentcomment
img
@pranayan

Astrologer

हमारे मित्र डॉक्टर नरेन्द्र कुमार चोकसे जी को इंदौर में एक और कार्यालय के शुभारम्भ की हार्दिक शुभकामनाएँ । जय माता दी ।
play
commentcomment
create koo