backKumar Vishwasback

Kumar Vishwas badge_img

@kumarvishwas

Artist

The poet (Koi Deewana Kehta Hai, Koi Pagal Samajhta Hai, Magar Dharti Ki Bechaini Ko Bas Badal Samjhta Hai)

calenderwww.kumarvishwas.com

calender Sep 2020 Joined on

Koo (11)
Liked
Re-Koo & Comment
Mentions
img
Artist
”उठा पलकों को जिस ने दिन उगाया था फ़लक पर, उसी की ज़ुल्फ़ का रातों पे साया हो गया है, नज़र का एक टुकड़ा छत पे फेंका है किसी ने, जिसे पढ़ने में पूरा चाँद ज़ाया हो गया है...!” ❤️
like408
re38
WhatsApp
img
Artist
आज हिंदी साहित्य के दो रत्नों का जन्मदिवस है। पूर्व-छायावाद युग के अग्रणी हस्ताक्षर रामनरेश त्रिपाठी जी ने जहॉं गाँव-गाँव घूम कर वहाँ गाये जाने वाले लोक गीत जैसे सोहर, कजरी, बिरहा, होरी आदि का एक विशाल कोष एकत्रित कर उसे ’कविता कौमुदी’ का साकार रूप दिया,वहीं फणीश्वर नाथ रेणु ने आँचलिकता की ख़ुशबू से सराबोर “मैला आँचल” जैसे अद्भुत उपन्यास की रचना की। दोनों मनीषियों को उनके जन्मदिवस पर अशेष प्रणाम
like592
re52
WhatsApp
img
Artist
इस धरती से उस अम्बर तक... 😍😍 इसे सुनिए! @KVStudio ने आप सबके लिए एक बार फिर से कुछ अनसुना ढूँढ निकाला है ! https://m.youtube.com/watch?v=-mRK6AK_Ybk&feature=share
play
like623
re65
WhatsApp
img
Artist
अथ श्रीमहाभारत कथा के अपने सबसे प्रिय पात्र पर बन रही इस फ़िल्म “सूर्यपुत्र महावीर कर्ण” के लिए संवाद और गीत लिखना मेरे लिए निजी तौर पर अत्यंत प्रसन्नता का विषय है! इस महायोद्धा की कहानी विभिन्न भारतीय भाषाओं में आप सबके सामने बहुत जल्द ही आने वाली है #SuryaputraMahavirKarna
like2240
re278
WhatsApp
img
Artist
“जो किए ही नहीं कभी मैंने, वो भी वादे निभा रहा हूँ मैं ! मुझसे फिर बात कर रही है वो, फिर से बातों में आ रहा हूँ मैं..!”😳😂
play
like2541
re208
WhatsApp
img
Artist
प्रवीण योद्धा,कुशल प्रशासक,मानव-धर्म प्रतिपालक धैर्य-धनी,समर्थशिष्य छत्रपति शिवाजी महाराज की आज जयंती है।शिवराया का संघर्ष मेरे बचपन में और उनकी युद्ध कूटनीति की कथा मेरी कैशौर्यावस्था में प्रेरणा रही ! भारत-भूमि के प्रांजल योद्धा को जयंती पर सादर प्रणाम 🙏🇮🇳️ #shivajimaharaj
like1510
re157
WhatsApp
img
Artist
“एक ख़ामोश हलचल बनी ज़िंदगी गहरा ठहरा हुआ जल बनी ज़िंदगी तुम बिना जैसे महलों में बीता हुआ उर्मिला का कोई पल बनी ज़िंदगी” 💔
like2187
re188
WhatsApp
img
Artist
सुख़न की दुनिया में यह ख़ुशक़िस्मती शायद सदियों में किसी एक शायर को ही नसीब होती है कि उनका तख़ल्लुस शायरी का उनवान हो जाए तथा उनकी पहचान ख़ुद में एक मुकम्मल दीवान समेटे हुए ग़ज़ल का पर्याय बन जाए। उर्दू शायरी के ऐसे अज़ीम बादशाह मिर्ज़ा असदुल्ला खां ’ग़ालिब’ की पुण्यतिथि पर हम शायरी के दीवानों की तरफ़ से उन्हें सादर नमन। ❤️🙏🏻
like1928
re117
WhatsApp
img
Artist
बाँसुरी चली आओ ... होंठ का निमंत्रण है ! 😉❤️ #kiss_day
like1564
re89
WhatsApp
img
Artist
”एक दो दिन में वो इकरार कहाँ आएगा हर सुबह एक ही अखबार कहाँ आएगा आज जो बाँधा है इनमें तो बहल जायेंगे ‪रोज़ इन बाँहों का त्यौहार कहाँ आएगा” 😍❤️ #Hug_Day
like1180
re71
WhatsApp
ask