koo-logo
Backback
Dhaval patel
backblock

Dhaval patel

@dhaval_patelA03VI

अपनी राय कू करें

calender Joined on Apr 2021

KooKooKoo(158)
LikedLikedLiked(1)
Re-Koo & CommentRe-Koo & CommentRe-Koo & Comment
”इसकी गिनती मत करो कि चलते चलते तुम कितनी बार गिरे. गिनती इस बात की करो कि तुम कितनी बार उठे. उठ कर फिर से चलना ही आगे बढ़ने की तरकीब है.”
commentcomment
”अच्छे रिश्ते टर्म शीट और शर्तों से नहीं बन सकते. रिश्ते बनते हैं आँख बंद करके, आपस में विश्वास करने से. रिश्ते क़ायम रहते हैं लगातार एक दूसरे को समझने की कोशिश करने से”
commentcomment
”साहिल की तरफ़ कश्ती ले चल, तूफ़ाँ के थपेड़े सहना क्या, तू आप ही अपना माँझी बन, मौजों के सहारे बहना क्या. ये बीच सफ़र में कैसे थकन, मंज़िल भी जब तेरी दूर नहीं, सोते हुए राही जाग ज़रा, ख़्वाबों में उलझकर रहना क्या”
commentcomment
“आपको रुलाने वाले तो बहुत होंगे, पर जो खुद-ब-खुद आपके लिए रोए, उसे कभी अपने से दूर न करना”
commentcomment
“जो लोग आपके मन की शांति को भंग करें, आपके आत्मसम्मान को चोट पहुँचाएं, ऐसे लोगों से दूर रहने में ही समझदारी है”
commentcomment
“खूब मेहनत करो, अनुशासन में रहो और धैर्य रखो. आप का अच्छा वक़्त ज़रूर आएगा.”
commentcomment
15 Oct
“जो संघर्ष आप आज करेंगे, जो मेहनत आज करेंगे, उससे जो ताक़त मिलेगी, जो अनुभव मिलेगा, वह कल आपके काम आएगा”
commentcomment
14 Oct
“सफलता के लिये दो बातें ज़रूरी हैं. एक तो ये कि आप सही वक्त पर सही जगह मौजूद हों. और दूसरी ये कि जब ऐसा मौक़ा हो तो हाथ पर हाथ रख कर बैठे न रहें, कोशिश करें, अवसर का फ़ायदा उठाएँ.”
commentcomment
13 Oct
”जिस राह से गुज़रने की इजाज़त नहीं मुझे, कई बार गुज़रते हैं, मेरे ख़याल वहाँ से.”
commentcomment
12 Oct
“ अगर कोई विफलता आपको विनम्र बनाती है तो वो ऐसी किसी भी सफलता से बेहतर है, जो आपको अहंकारी बनाती है “
commentcomment
create koo