koo-logo
koo-logo
back
Lalit
shareblock

Lalit

@_lalit007

Jokes को Jokes की तरह पढ़ें और उसका आनंद लें अपनी या मेरी नि

महिलाओं का सम्मान मेरी प्राथमिकता है किसी भी पोस्ट या कमेंट को गलत मानसिकता से न लें

calender Joined on Feb 2021

KooKooKoo(2871)
LikedLikedLiked(38607)
Re-Koo & CommentRe-Koo & CommentRe-Koo & Comment(10825)
img
@_lalit007

Jokes को Jokes की तरह पढ़ें और उसका आनंद लें अपनी या मेरी नि

आदरणीय एवं प्रिय मित्रो व् मित्रियो लोग पता नहीं कैसे अपना समय खराब करके बिना किसी आर्थिक लालच के अपनी पोस्ट कू पर तैयार करते हैं कोई गलत कमेंट करके उनका मानसिक संतुलन खराब न करे जब तक आपको उस पोस्ट में अश्लीलता, देशद्रोह या किसी के अपमान की बू न आती हो
commentcomment
1
img
@_lalit007

Jokes को Jokes की तरह पढ़ें और उसका आनंद लें अपनी या मेरी नि

1 लाइक के बदले 5 या 10 लाइक चाहियें तो हमारी गली चले आना
commentcomment
2
img
@_lalit007

Jokes को Jokes की तरह पढ़ें और उसका आनंद लें अपनी या मेरी नि

अभी ९९३४०फोल्लोवेर हैं सुबह तक 10000 तक फॉलोवर्स हो जायेंगे सभी कू मित्रों व मित्रियों को दिल के हर कोने से धन्यवाद जिसमें मित्रियों ने किराये पर स्पेस ले रखा है
commentcomment
0
img
@_lalit007

Jokes को Jokes की तरह पढ़ें और उसका आनंद लें अपनी या मेरी नि

बात १० साल पुरानी है एक शौचालय में गया सामने लिखा था बाएँ देख बाएँ लिखा था दाएं देख दाएँ लिखा था पीछे देख पीछे लिख था क्या इधर उधर देख रहा है आराम से नहीं क्र सकता लेकिन अब उत्तेर प्रदेश में लिखा नहीं होता अपने आप ही पूरा शौचालय देखने का मन करता है क्योंकि बहुत सूंदर बने है
commentcomment
0
img
@_lalit007

Jokes को Jokes की तरह पढ़ें और उसका आनंद लें अपनी या मेरी नि

सैकड़ों अकलमंद मिलते हैं काम के लोग चंद मिलते हैं जब मुसीबत आती है तब भगवान के सिवाय सब के दरवाजे बंद मिलते हैं
commentcomment
2
img
@_lalit007

Jokes को Jokes की तरह पढ़ें और उसका आनंद लें अपनी या मेरी नि

तुम नफरतों के धरने कयामत तक जारी रखो मैं मोहब्बत से देश को बिखरने नहीं दूंगा आएंगे तो मोदी जी और योगी जी ही
commentcomment
3
img
@_lalit007

Jokes को Jokes की तरह पढ़ें और उसका आनंद लें अपनी या मेरी नि

धोखे मिलना आम बात हो गई इसलिए टूटे-फूटे दिल से जीना सीखो क्योंकि आजकल फटे कपड़े सिल कर पहनने का रिवाज नहीं बल्कि कपड़े फाड़कर पहनने का रिवाज है
commentcomment
3
img
@_lalit007

Jokes को Jokes की तरह पढ़ें और उसका आनंद लें अपनी या मेरी नि

पड़ोसन खाली पेपर को बार-बार चूम रही थी. मैंने कहा क्या है यह. बोली लव लेटर. मैंने कहा ये तो खाली है. बोली आजकल बोलचाल बंद है उससे
commentcomment
1
img
@_lalit007

Jokes को Jokes की तरह पढ़ें और उसका आनंद लें अपनी या मेरी नि

जब पत्नी शक करना बंद क्र दे तो समझ लेना आप बूढ़े हो चले हैं दूसरा कारण पत्नी कहे रात बहुत हो गई मेरी सहेली को घर छोड़ दो
commentcomment
2
img
@_lalit007

Jokes को Jokes की तरह पढ़ें और उसका आनंद लें अपनी या मेरी नि

अवार्ड वापसी गैंग का सदस्य बनने क मतलब है उस व्यक्ति को अपनी क़ाबलियत पर शक है यह जनता के प्यार का भी अपमान है
voters

91 votes

time-left

15 hours left

commentcomment
7
create koo