koo-logo
backपिंकी पंवारback

पिंकी पंवार

@Sweet_Pinki

अपनी राय कू करें

calenderhttps://www.kooapp.com/profile/Sweet_Pinki

calender Aug 2020 में कू पर आए।

कू (23)
पसंद किया
रिकू और कमेंट
मेंशन्स
कुछ लोग खोने को प्यार कहते हैं.. तो कुछ पाने को प्यार कहते हैं, पर हकीक़त तो ये है, हम तो बस निभाने को प्यार कहते हैं। ❤️ ❤️ ❤️ ❤️ ❤️
img
comment
3
जो आपके... शब्दों का... “मूल्य“ नहीं समझता....! उसके सामने.... मौन रहना ही... बेहतर है...!!
img
comment
2
उसके लफ्जों से ज्यादा तो जनाब, उसकी खामोशियां तड़पाती है!!
img
comment
1
दरिया से भी लौट जाते हैं मुसाफिर प्यासे...! हर पानी की फितरत नही प्यास बुझा देना...!!
img
comment
3
जिस्मों में उलझने की चाहत नही... क़िसी के झुमके और जुल्फ़ों में उलझना हैं...
img
comment
1
तुम्हारा होके किसी और का हो जाना... मेरी इतनी औक़ात कहाँ..!!
img
comment
1
कभी बादल, कभी बारिश, कभी उम्मीद के झरने, तेरे एहसास ने छुकर, मुझे क्या-क्या बना डाला।
img
comment
1
ऐसे माहौल में दवा क्या है दुआ क्या है जहां कातिल ही खुद पूछे कि हुआ क्या है।
img
comment
4
जिन्दगी में .... अब इतना समझ आ गया कि बेशक..... किसी की ज़रूरत मे काम आ जाओ मगर..... किसी को अपनी ज़रूरत कभी मत बनाओ!
img
comment
1
“सुलझा“ हुआ “मनुष्य“ वह है, जो अपने “निर्णय“ स्वयं करता है| और उन “निर्णयो“ के “परिणाम“ के लिए, किसी “दूसरे“ को “दोष“ नही देता..!
img
comment
2