koo-logo
koo-logo
back
Ramanjee kumar chodhri ahmad
shareblock

Ramanjee kumar chodhri ahmad

@Ramanjeekumarchodhriahmad

Financial Expert

इंसान को कभी भी खुद से कमजोर नही होना चाहिए क्यों की आपकी कमजोरी जिस दिन दुनिया को पता चल जाएगा उस दिन से आपकी दुनिया उजरना सुरु हो जाएगी इसी लिए नजर पे कंटोल होना चाहिए आपके चोहदी की नज़र ही आपके सारे समस्या की हल हो सकता हैं दोस्त फ्रेंड्स या वो जो फ्रेंड्स हो दोस्तो

Show more

calender Joined on Feb 2021

KooKooKoo(124)
LikedLikedLiked(6877)
Re-Koo & CommentRe-Koo & CommentRe-Koo & Comment(234)
img
दोस्तो फ्रेंडो या वो जो फ्रेंड हो आप लोग जानते हैं कि चोरी डकैती लूट पात किन्नेफिक कैसी होती हैं लेकिन सेंध मरी भी कई किस्म की होती हैं जिसका कल्पना नहीं कर सकते लिकिन एक सेंध मरी जो किसी पीढ़ी परिवार खानदान में जो होती हैं उसका आकरा लगाना बरी कल्पना जैसी बात होती हैं जिस का दुनियां ही शिकार हो जाते हैं .....
commentcomment
0
img
बाते तो कोई भी नही करना चाहेगा दोस्तो पर बहस पे बहस जरूर करते है और गलती की बात किया जाए तो अगली पीढ़ियां को भी अपने पास ही बैठा लेते हैं और पिछली पीढ़ियों को बे उम्र उन्ही के हाथो दाह संस्कार करवा देते हैं
commentcomment
0
img
दोस्तो पिछली पीढ़ियों का इतिहास किसी किताब में मिले या ना मिले पर दिमाग में रिश्तों से रिश्तों को ढूंढने में गांव वालों की साजिश दिमाग पकड़ जरूर जाति है जिसको छिपाने के लिए एक तो पिछली पीढ़ियों से साजिशो के तहत पोरोप्ति ले लेटे फिर उनको साजिशे त्याग बलिदान के बादअगली पीढ़ियां पे कर्जभी दाल दिया जाता हैऔर कर्ज चुकता करने लाइक ही नही छोड़ते ना रहने देते फिर बचा हुआ पोरोप्ति का सौदा कर के वो भी ले लि
commentcomment
0
img
कल्पना से ज्यादा जिंदगी का रहस्य
commentcomment
0
img
खामोशी बहुत कुछ सुन समझ समझा/ कह कहा कहवाह और लिख लिखवाह लिख देती है
play
00:22
commentcomment
0
img
गुड मॉर्निंग तम्माम आत्म निर्भर वासियों
commentcomment
0
img
नव वर्ष कि हार्दिकशुभकामनाएं दोस्तो फ्रेंडो शनि देव महराज से नया साल 01/01/2022 कीशुरुआत की पहचान बनी उनशनि देव महराज को मेरा नट मस्तक प्रणाम नमस्कार और सलाम नया सालभगवानश्रीशनि देव की अपार किरपाआशीर्वाद प्राप्त होता रहे ये दुआ प्राप्त की कामना करता हूंऔर बीता हुआ कल की साल सालो में ज्ञान की ज्ञातआशीर्वाद प्रिपूर्ण तरीके से सुकरशुक्रवारशुभ से समाप्त हुआ तमाम देश देश वासियों की केआशीर्वाद मिला ..
commentcomment
0
img
कहते है कि तारीख़ गवाह हैं और लिखते है की में गवाह हूं तो में पहचान भी हूं इतना मधुर शब्द का उच्चारण कितनी सुंदर बुद्धिमान की पहचान है पर लेकिन किंतु परंतु का भी जो एक बात है कि यही से जो एक नाम है वो सरमिंदगी की ही एक पहचान है दोस्तो / गुड नाईट फ्रेंडो शुभ रात्रि और सुबह मंगल में और आप है और वो तीसरी की पहचान हो
commentcomment
0
img
दोस्तो क्या पता कल को किसने देखा है नेकिन आज को तो हर एक ने देखा दिखाया झेला झेलाया गया हैं और मेहसूस किया कराया देखा सुना समझा समझाया पाया गया है एक एक भूमिका में इतिहास के पन्नो के नाम पर दरसाया जो पाया गया है एक मां के हाथो दूसरी मां के ममता का पहचान जो लिया गया है उसमे अपराध ही अपराध पाया गया है जिसका कल्पना करना उम्र कम पाया गया है बस कम थोड़ा ज्यादाऔर उससेभीथोड़ा ज्यादा ही पाया गया है....
commentcomment
0
img
मानवता शर्मशार है
commentcomment
0
create koo