backकैलाश”किनारा”back

कैलाश”किनारा”

@कैलाशकिनारा

कवि अपनी राय कू करें

calenderhttps://www.kooapp.com/profile/कैलाशकिनारा

calender Nov 2020 में कू पर आए।

कू (81)
पसंद किया
रिकू और कमेंट
मेंशन्स
img
इश्क में गहरी चोट लगी है जनाब ये इश्क लोकतंत्र है तानाशाही नहीं
like2
comment
re1
WhatsApp
img
ये आंखों का भरम है कि पानी बहता है ये जमीन है जो उसके लिए ढलती कटती है
like1
comment
re
WhatsApp
img
मुझे पढ़ने से बेहतर कोई अखबार ही पढ़ लेते मैं तो इश्क में ठुकराई कल की बासी खबर हुं
like4
comment
re
WhatsApp
img
मुझे पढ़ने से बेहतर अखबार ही पढ लेते मैं इश्क में ठुकराई कल की बासी खबर हुं
like2
comment
re
WhatsApp
img
जमीन पर गिरे हुए फूल मंदिर में नहीं चढ़ते सोचता हूं किसी मरीज को देकर हालचाल पूछा जाए
like3
comment
re
WhatsApp
img
खाट मिली न रजाई मिली चद्दर मिला उसे नसीब में तुम ढूंढो खुशियां रजाई में वो खुंटी तानकर सोया है जमीन पे
like7
comment
re1
WhatsApp
img
इश्क सुनामी है जवानी के सागर का फिर उम्र भर ठंडा पानी है ये घाघर का
like4
comment
re1
WhatsApp
img
ख़ामोश रहकर भी समंदर ने नजारा देखा है जो हवाओं ने बगावत की तो सुनामी में बदल गया
like8
comment
re2
WhatsApp
img
#गलवान_पर_चीन_का_क़बूलनामा सत्य कभी छुप नहीं सकता मगर टूल किड को कौन समझाए कि चीन ने स्वीकार किया है कि उसके सैनिक मारे गए थे।
like13
comment
re5
WhatsApp
img
मैंने तो उसे अपना नजरिया बदलने को कहा था वो हर रोज कपड़े बदल कर आती रही
like3
comment
re
WhatsApp
ask