koo-logo
BackbackKoo - Vikas KumarGo to Feed
15 Jun
@vikas_kumarA53N3

Satyarganj Islampur Nalanda

गुड मोर्निंग मई फ्रेंड
commentcomment

More Koos from Vikas Kumar

11 Jul
@vikas_kumarA53N3

Satyarganj Islampur Nalanda

देर लगती है मगर समझ आ जाता है कौन कैसा है नजर आ जाता है दिखाबा करते कुछ लोग अपनेपन का बक्त आने पर सब समझ आ जाता है
commentcomment
11 Jul
@vikas_kumarA53N3

Satyarganj Islampur Nalanda

मैंने आजाद कर दिया हर बो रिस्ता हर बो इंसान जो सिर्फ अपने मतलब के लिए मेरे साथ
commentcomment
05 Jul
@vikas_kumarA53N3

Satyarganj Islampur Nalanda

आसानी से टूट जाऊ बो इंसान थोड़ी हु सबको पसंद आउ भागबान थोड़ी हु
commentcomment
01 Jul
@vikas_kumarA53N3

Satyarganj Islampur Nalanda

गम मिला तो सह न सके खुशी मिली तो मुस्कुरा न सके मेरी जिंदजी भी जिंदजी ही क़्या जिसे चाहा उसे पा न सके
commentcomment
19 Jun
@vikas_kumarA53N3

Satyarganj Islampur Nalanda

Good night my फ्रेंड
commentcomment
19 Jun
@vikas_kumarA53N3

Satyarganj Islampur Nalanda

इच्छा पुरी नही हुईं तो क्रोध उत्पन होता ह क्यों पूरी नहीं हुई ओर अगर पूरी हो जाये तो लालच बढ़ता है ओर चाहिए
commentcomment
15 May
@vikas_kumarA53N3

Satyarganj Islampur Nalanda

ही
commentcomment
27 Apr
@vikas_kumarA53N3

Satyarganj Islampur Nalanda

हम बो नहीं जो मतलब से इयाद करते है हम बो हैं रिस्तो से प्यार करते है हम आपको इयाद आए या ना आए हम आपको हमेसा इयाद करते है
commentcomment
create koo