koo-logo
koo-logo
या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना। या ब्रह्माच्युत शंकरप्रभृतिभि र्देवैः सदा वन्दिता सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा ।।
commentcomment
0

More Koos by this user

img
आदि अनादि अनंत अखंड अभेद अछेद सुवेद बतावै रूप महेश को नित्य अनूप जो जोगी जती उर माही बसावे गावत वेद पुराण सदा जेहि नारद सारद पार न पावें है बड़भागी सबै नर नारी जो सांब सदाशिव को नित ध्यावै.
commentcomment
2
img
हजारों गम मेरी चाहत नही बदल सकते क्या करूँ मेरी तो आदत है मुस्कुराने की.. 🟡 नमस्कार श्री सूर्यदेव जी 🟡
commentcomment
1
img
” खाली हाथ आये थे खाली हाथ जाना है ”
commentcomment
0
img
जय जय जय हनुमंत अगाधा । दुख पावत जन केहि अपराधा॥ पूजा जप तप नेम अचारा । नहीं जानत कछु दास तुम्हारा ॥ ‼ ॐ श्री हनुमते नमः ॐ ‼
commentcomment
0
img
नमो मार्तण्ड सुपुत्रम् बलिष्ठं , नमो छायातीतं हरन्तं अरिष्टम् l नमो रौद्ररूपं अनूपं अखण्डं, नमो मोय बभ्रुं नमो आरि चण्डम् l नमो भद्र मेषं नमो पिंगलाक्षं , नमो नील पद्मं नमो सुख्य साख्यम् l नमो भील रूपं नमो वक्रदृष्टं , नमो मेध आभं प्रभावम् सुदृष्टम् ।
commentcomment
1
img
सर्वमंगल मांग्लये शिवे सर्वार्थ साधिके। शरण्ये त्र्यम्बके गौरी नारायणी नमोस्तुति।। जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कृपालिनि। दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोस्तुते।। या देवि सर्वभूतेषु मातृ रूपेण संस्थिता नमस्तस्ये नमस्तस्ये, नमस्तस्ये नमो नमः।
commentcomment
2
img
शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमां आद्यां जगद्व्यापिनीं वीणा पुस्तक धारिणीं अभयदां जाड्यान्धकारापाहां हस्ते स्फाटिक मालीकां विदधतीं पद्मासने संस्थितां वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धि प्रदां शारदां
commentcomment
2
img
🔵 🟣श्री गणेश जी महाराज🟣 🔵 ❤‼ ऋद्धि सिद्धि ‼❤ 🟢 🔔शुभ लाभ 🔔🟢 🟡आपको कोटि कोटि प्रणाम🟡
commentcomment
3
img
राम स्वर्ग, राम मोक्ष, राम परम साध्य है, राम जीव, राम ब्रह्म, राम ही आराध्य है.!! ‼️ जय श्रीराम ‼️
commentcomment
3
img
!! मेरी तकदीर के मालिक, मेरी तकदीर तो तुम हो जो उभरी है सितारों पे, मेरी तस्वीर तो तुम हो यह दौलत ,यह शोहरत , सफर श्मशान तक का है जो आखिर साथ जाना है, असल जागीर तो तुम हो !!
commentcomment
6
create koo