koo-logo
backKoo
विद्यापति के नाम पर जल्द होगा दरभंगा एयरपोर्ट का नामकरण।
comment
22

Comments

dropdown-menu
img
बहुत बहुत धन्यवाद
comment
dropdown-menu
img
@Dr.Mithilesh_Paswan

Research Scholar

इस एयरपोर्ट को विद्यापति ने बनाया था क्या, एयरपोर्ट का नाम दरभंगा एयरपोर्ट है तो क्या दिक्कत है क्यों खुजली हो रहा है आप नेताओ को।
comment
1
dropdown-menu
img
@हरियाली

Retired Banker Environment Politics

उन्होंने विधवाओं के विवाह के लिए खूब आवाज उठाई और उसी का नतीजा था कि विधवा पुनर्विवाह कानून-1856 पारित हुआ। उन्होंने खुद एक विधवा से अपने बेटे की शादी करवाई थी। उन्होंने बहुपत्नी प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ भी आवाज उठाई थी। उनके इन्हीं प्रयासों ने उन्हें समाज सुधारक नैतिक मूल्यों के संरक्षक और शिक्षाविद् विद्यासागर का माना जाता है ।
comment
dropdown-menu
img
जय श्री राम , जय बिद्यापति जी जय मोदी जी
comment
dropdown-menu
img
मोदी बाबा कि जै
comment
dropdown-menu
img
जय श्री राम
comment
dropdown-menu
img
29 Jul
@basant9NSC4

“संपन्नता“ मन की ही अच्छी होती है “धन“ की नहीं, क्योंकि“ धन

सूनदरनामकरण।दरभगाकीजगहविददयापतीसटेशन।इसटैसनकाउधरसेगुजरनेवाली।।टेरनोकासबमे।सुधारहोजायेगाधनयवाद
comment
dropdown-menu
img
सही कदम है जी
comment
dropdown-menu
img
शीघ्र हो नाम करण
comment

More Koos from this user

dropdown-menu
@sushilmodi

Politician

१/१. पश्चिम बंगाल, असम, मध्य प्रदेश, यूपी तक कई राज्यों में कांग्रेस के जिस पुराने-डूबते जहाज को छोड़ कर लोग तेजी से सुरक्षित जलयानों में छलांग लगा रहे हों और जिस पार्टी की बुजुर्ग कप्तान कामचलाऊ हो, उसे बचाने के लिए कुछ नौसिखिये भर्ती किये जा रहे हैं।
comment
5
dropdown-menu
@sushilmodi

Politician

१/२. कांग्रेस ने जिन्हें बाजे-गाजे के साथ शामिल किया, उनमें से एक कल तक जेएनयू में ”भारत तेरे टुकड़े होंगे” के नारे लगवा रहे थे और आतंकी अफजल गुरु को फांसी देने वाली न्यायपालिका पर सवाल उठा रहे थे। कांग्रेस ने फिर साबित किया कि वह सत्ता के लिए आतंकियों और देश-विरोधी ताकतों के साथ है।
comment
3
dropdown-menu
@sushilmodi

Politician

लालू प्रसाद ने 15 साल राज किया, किंग-मेकर रहे और उनकी पार्टी 10 साल तक यूपीए सरकार में मलाई काटती रही। लेकिन तब उनकी नजर रेलवे के होटल के बदले या मंत्री बनवाने के एवज में जमीनें लिखवाने पर थी, जनहित के काम पर नहीं। उस समय वे बिहार को केंद्र से जो नहीं दिलवा पाए, आज उन बातों की मांग कर उनकी पार्टी मसीहा बनने का नाटक कर रही है।
comment
26
dropdown-menu
@sushilmodi

Politician

लिख रहा हूं मैं अंजाम जिसका कल आगाज आएगा मेरे लहू का हर कतरा इंकलाब लाएगा मैं रहूं या न रहूं पर ये वादा है मेरा तुमसे मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आएगा। शहीद-ए- आजम भगत सिंह जी की जयंती पर उन्हें कोटिशः नमन।
comment
15
dropdown-menu
@sushilmodi

Politician

बिहार और देश के लगभग सभी राज्यों में सच्चे-शांतिप्रिय किसानों ने विपक्ष के ”भारत बंद” को नकार कर फिर साफ किया कि वे मंडी से आजादी का विकल्प देने वाले कृषि कानूनों के विरुद्ध बिल्कुल नहीं हैं। मोदी-सरकार की नीति और नीयत पर भरोसा रखने वाले अन्नदाताओं का आभार।
comment
4
dropdown-menu
@sushilmodi

Politician

किसान आंदोलन के नेता केंद्र सरकार से 11 चक्र की वार्ता में यह नहीं बता पाए कि कृषि कानून में ’ काला ’ क्या है? कथित किसान आंदोलन के नाम पर देश में कोरोना से उबरती अर्थव्यवस्था की लय तोड़ने की जो कोशिश की जाती है, वह कभी सफल नहीं होगी।
comment
dropdown-menu
@sushilmodi

Politician

केंद्र सरकार यदि किसान विरोधी होती, तो 9.5 करोड़ किसानों के खाते में सम्मान निधि के रूप में 1.37 लाख करोड़ रुपये की राशि क्यों डाली जाती? यदि एमएसपी खत्म करने का इरादा होता, तो क्या गेहूं के न्यूनतम समर्थन मूल्य में पिछले 7 साल में प्रति क्विंटल 600₹ की वृद्धि हुई होती? इस साल तो एमएसपी पर रिकार्ड 82 हजार करोड़ मूल्य के गेहूं की खरीदारी हुई, जो एमएसपी पर फैलाए गए झूठ को पूरी तरह तार-तार करती है।
comment
24
dropdown-menu
@sushilmodi

Politician

राज्य चाहें तो जातिगत जनगणना कराने के लिए स्वतंत्र...
comment
7
dropdown-menu
@sushilmodi

Politician

केंद्र सरकार सेवा व सहायता की चला रही मुहिम...
comment
8
dropdown-menu
@sushilmodi

Politician

पटना के गांधी घाट पर आयोजित गंगा आरती में.
comment
3
create koo