koo-logo
backकू
“प्रजातंत्र में सबसे बड़ा दोष है, तो यह कि उसमें योग्यता को नहीं लोकप्रियता को मान्यता मिलती है !!“
comment
50
समाज सेवा और गीत,गजल,भजन लेखन कार्य
लोकप्रियता जनता जनार्दन की सेवा और जाति के समीकरण के मध्य समय गुजारकर आती है, साथ ही पैसा और दबंगी अपना महत्व जीतने में मददगार होता है !!
comment
4
महिला एवं पुरूष परिधान विशेषण बैंगलुरू
ये तो आपने लोकतांत्रिक सच बोल दिया
comment
महिला एवं पुरूष परिधान विशेषण बैंगलुरू
राजनीति में जब जब तक अनपढ चुनकर आते रहेंगे तब तक देश ऐसी ही विषम परिस्थितियो से देश चलता रहेगा पढ़ें आश्चर्य की बात है कि भारत की बिहार प्रदेश से सबसे ज़्यादा आए आईएएस अअफर चुने जाते हैं उसी प्रदेश की एक पूर्ण अनपढ महिला मुख्यमंत्री बन जाती है ये हैं भारत की राजनीति को अलोकतांत्रिक सिस्टम
comment
1
Principal. Intermediate High school Siswar Kudra Kaimur Biha ...
इसी लिए तो इसे मूर्खो का शासन कहा जाता है .
comment
1
Shivpariwar Sadasya
बिलकुल। यही देस का दुर्भाग्य है ।
comment
Business Owner
तभी तो आगे आप समझदार है जी .
comment
Mujhe bhi rajnitik mein koi interest nahin रहा
comment
1
rtd, govt, science teacher. Farmer
और यह लोकप्रियता छदम उपायों से भी मिल जाती है भले ही व्यक्ति में उस लोकप्रियता के अनुरूप योग्यता न के वरावर हो ,और व्यक्ति चाहें नैतिक चरित्र से विल्कुल खोखला हो !! रीना , आपकी पोस्ट 100/ सही है !!
comment
1
civil Difens & Politician महामंत्री बूथ समिति भाजपा, महानगर, ...
उचित कहा आपने 🙏
comment
शैलजा जी जो लोकप्रिय हैं वहीं इस कोरोना काल में जा रहें इस लिएं लोकप्रिंय सब से ज्यादा ख्याल करें जनाब ख्याल रखें रखेंअपना ओर अपनो का कोविड़ दवा ऐटींबायटीक दवा कोस जरूर लें रिक्वेस्ट ✍️🧙🏽‍♂️🧙🏽‍♂️🚩🚩
comment
1
transporting with owner
राजनिति में भी योग्यता होना चाहिए
comment
1
Self Employed
U r right .
comment
प्रतिक्रिया प्रदर्शन का आईना होता है| जैसे प्रदर्शन होगा उसी तरह की प्रतिक्रिया भी होगी| दुनिया में जब भी कोई इन्सान किसी दुसरे के लिए अपनी प्रतिक्रिया देता है तो पहले उसके प्रदर्शन की पूरी रूप रेखा को समझ लेता है तभी वो उन शब्दों का प्रयोग करता है जो प्रदर्शन के लिए प्रतिक्रिया हो| https://www.neeraj989.com/2021/04/reality-of-performance-and-feedback-by.html
comment
आज अकल की बात कही 🙏🙏
comment
1
Self employe
🥀🥀हौसला टूटने मत देना इस कर्मयोगी का, वरना आने वाली पीढियां हमें क्षमा नही करेंगी...⚘⚘🙏🏼🇮🇳
img
comment
प्रजातंत्र :-प्रजा तो तंत्र की एक कड़ी होती है लेकिन अपने आप में संकुचित होती है और इसी का फायदा कुछ प्रशंसनिय लोग उठाते है क्योंकि प्रजा अपनी योग्यता को उनकी प्रशंसा में लगाती है जो कुछ प्रश्ननीय लोग है ,जिसके परिणाम स्वरुप वह लोकप्रियता को हासिल करके प्रजा को योग्यता से भटका कर अपनी प्रशंसा का साधन बना लेते हैं यहीँ योग्यता दब जाती है और लोकप्रियता प्रसारित हो जाती है ,, जय हो माधव
comment
सही कहा आपने
comment
आपकी बात से पूर्णतः सहमत हैं। आपका दिन मंगलमय हो इसी शुभकामनाओं सहित सुप्रभात।
comment
आरक्षकण मुर्दाबाद
comment
1
खेती व पशुपालन तथा राजनीति एवं समाज सेवा
आपका🙏💕 अभिन्दन
comment