koo-logo
backकू
कुछ संघर्ष से प्राप्त होता है और कुछ धैर्य रखने से... जीवन में दोनों गुणों की आवश्यकता है। कब संघर्ष करना है और कब धीरज रखना है, इसकी समझ विवेक है। अज्ञानी के लिए धैर्य रखना भी संघर्ष है और ज्ञानी संघर्ष में भी धीर रहता है। 🙏
comment
40
प्रेम से बोलिए श्री राधे राधे
comment
2
धैर्य और संघर्ष को ज्ञानी और अज्ञानी द्वारा किस प्रकार उपयोग करेगा का विश्लेषण प्रशंसनीय है। शुभ संध्या।
comment
बस धीर की,,,,,,,, पीर जवाब देती रही !!!!
comment
आर्मी रिटायर्ड
मेडम जी आपका लिखना सही है, कि यह धैर्य और संघर्ष दोनों का एक जैसा रूप है, मेरा तो मनना यह है🙏💕 कि धीरे धीरे चल मना, धीरे सब कुछ होऐ, कर्म करना जरूरी है फल देना भगवान ऊपर भरोसा छोड़ देना चाहिए, सब्रशंतोष जरूरी है, समय के आनूशार सब कुछ बदलता रहता है. शुभ रात्रि मित्रों.
comment
सत्य वचन🙏🙏 लेकिन वर्तमान में ज्ञानी-अज्ञानी एक समान हैं. ।
comment
रिटायर्ड प्रधानाचार्य
कुछ फल पाने के लिए परिश्रम करना पड़ता है। ईश्वर सिर्फ लकीरें देता है रग खुद भरना पड़ता है। ।
comment
Pujari Pujakrti Krvati
गज़ब सच कहा आपने जय श्री कृष्ण जी
comment
बहुत सुन्दर विचार ठकुराइन
comment
लाज़वाब लाज़वाब
comment
खेती व पशुपालन तथा राजनीति एवं समाज सेवा
आपकी रात्रि मगलमय हो ऐसी कामना
comment
खेती व पशुपालन तथा राजनीति एवं समाज सेवा
शुभ रात्रि आपको
comment
बेहतरीन बात है ,उपयोगी भी ..
comment
खेती व पशुपालन तथा राजनीति एवं समाज सेवा
साधुवाद आपको चौहान साहब
comment
Carpenter
गुड जी 👌👌
comment
Principal. Intermediate High school Siswar Kudra Kaimur Biha ...
बहुत ही सूंदर प्रेरणादायक विचार . शुभ संध्या .
comment
जी हा
comment
बहुत अच्छी बात.. 😀
comment
खेती व पशुपालन तथा राजनीति एवं समाज सेवा
शानदार आलीशान जानदार
comment