koo-logo
backकू
“यह समय आँकड़ों में चल रहा है। लेकिन हमें ‘इंसान‘ के रूप में दर्ज होना है..!“
comment
31
समाज सेवा और गीत,गजल,भजन लेखन कार्य
इंसान का इंसान के साथ भाईचारे का व्यवहार रखना है, दूसरों की यथासंभव मदद करनी है तो समाज में हमारी महानता परोपकारी सिद्ध होगी. !!
comment
5
कोरोना हौ या कुरान सर्कुलर गाँधी वादियों से हिन्दुओ की उनकी रक्षा अस्त्र शास्त्र उनकी एकता ही कर सकती है सनातन मै ही संजीवनी है इस्लाम मै नही हिंदुओ को ईश्वर ने बनाया है मुसलमान को मौलवियों ने हिन्दू होने पर गर्व है मूझे जय भवानी हर हर महादेव
comment
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मैं मानव ही ठीक हूॅं। मुझे इंसान (Insane) नहीं बनना।
comment
1
चाहे समस्या कोई भी आंकड़े को ध्यान में रखकर कोई भी काम नहीं करेंगे व्यवस्था हीं चरमरा जाएगी। उदाहरण के लिए आप घर में चार लोग हो और महीने में ३० किलो आटे की खपत ये आंकडा है और आपको यह पता ही नहीं कितना आटा महीने में लगेगा और आपने १५ किलो आटा मंगाया है तो क्या होगा व्यवस्था चरमरा जाएगी। शुभ संध्या।
comment
Hotelier
सही कहा ..... बहुत बड़ी बात है .... शायद सबको जल्दी समझ में आ जाए
comment
Business Owner
कोशिश कर रहा hu.insan बनने की .
comment
1
HR Forrester &Social Worker हिन्दूस्तानी शेर
जी मैम
comment
1
सबसे पहले इंसान बनना पडेगा. 🙏🙏
comment
रीना जी समयानुसार चलना चाहिए आपके विचारों से सहमत हूँ
comment
1
Business Owner
अपने अपने हाथ उढाओ .में गिनती कर लू .
comment
इन्सान ही एक ऐसा प्राणी है जो अपने इंसान होने का फर्ज अदा कर सकता है दुनिया मे इंसानियत के बहुत सारे किस्से कहानियां है जो हमें हमारे इंसान होने पर गर्व करवा सकता है कि क्या हम इंसानियत को सही तरीके से निभा रहे है या नही। https://www.neeraj989.com/2020/08/reality-of-humanity-by-neeraj-kumar.html
comment
civil Difens & Politician महामंत्री बूथ समिति भाजपा, महानगर, ...
सत्य कहा आपने 🙏
comment
1
👌👌🙏
comment
1
जी सच है
comment
1
रिटायर्ड प्रधानाचार्य
परिवार के लिए हम महत्व पूर्ण है। बाकी सब आकङो का खेल है।
comment
एक्स cellent
comment
Business Owner
Good morning, sab parivar or bacho ko.
comment
कर्म सुभाषित धर्म इंसानियत फर्ज संकल्पित होने दो हम बचे रहे दूषित फिजाओ से शासित नियमो पर चलना है अर्ज भरी है दुखियारों कि हमे बढ़ कर के जोर लगाना है !
comment
खेती व पशुपालन तथा राजनीति एवं समाज सेवा
आपकी रात्रि सुहावनी व मगलमय हो चौहान साहब
comment