koo-logo
koo-logo
img
04 Oct
@ramu8O81P

Carpenter

🙏🙏🙏🚩🚩🥀
commentcomment
0

More Koos by this user

img
@ramu8O81P

Carpenter

जगत की जितनी प्रसिद्धि की ,क़िताबों में और अपनी निजी लिखतमो , के अक्षर इकट्ठे करो तो सारे धर्मो के ग्रंथो के अक्षरों से, अ गिनती आगे लिखे गये हं,,😊😊 और उनमे खुशियों से ज्यादा ,गम, दुःख ज्यादा छलकता मिलेगा, 💔💔 (यहाँ रेन बसेरा, स्वपन सा डेरा, चलना सवेरा उठ जाग रे ,,ये नर देह बड़भाग रे,, 🙏🙏🌸🌺✨🕉️💐 ॐ हरी हरी
commentcomment
18
img
@ramu8O81P

Carpenter

जाँच के रूपये भी लग गये और आया भी नॉर्मल ,हरी अरे ख़ाली फोकट से 150 रु लग्गये 😂😂🤣😝🥴😂😡🤬🥳🥳🥳🥳 🙏🙏🌸💫🕉️🕉️ ॐ हरी
play
00:13
commentcomment
15
img
@ramu8O81P

Carpenter

आदमी बाहर से अपनी ही बनाई तकनीक से अचंभित ह,ये कैसे अजब अविष्कार,?😂परन्तु 😂संवम को झाँकने में असमर्थ हं हम जो भी जगत में अविष्कार हुवे, और होंगे ,सिर्फ अंतरता की करामात ह, जब बहार इतना गजब तकनीक हो सकती ह तो शरीर के अंतर् का कंप्यूटर क्या होगा, (थोड़ी सी कोशिस,जहाँ बसे जगदीश ) 🙏🙏🌸💫🥀🌻🕉️ ॐ हरी हरी
commentcomment
11
img
@ramu8O81P

Carpenter

या तो हमे समय की बहुत बड़ी दिक़्क़त ह मिलता ही नहीं ,?😂🤣किसी को नहीं मिला ? क्योकि समय कोई वस्तु नहीं जो खरीद लिया , ये कभी मिला तो इसमें भी हम जीवन का एक हिस्सा जगत की बुराई की खोज में लगादेते हं 🥀💫🌺 (जितनी निंदा में समय दिया हमने क्या कोई अब तक कुछ सार निकला,?कभी न निकला मिट्टी को निचोड़े ,तेल नहीं निकलता ) 🙏🙏🌸🥀💫✨🌺🚩 ॐ हरी हरी
commentcomment
27
img
@ramu8O81P

Carpenter

भारी से भारी कस्टो में भी खुशियाँ खोज लें ,😂😂ऐसे हं हमारे जवान 🇮🇳✨🇮🇳💫🇮🇳✨🇮🇳💫🇮🇳 🙏🙏🥀🌺💐🇮🇳🇮🇳 जय भारती 🚩जय हिन्द
play
00:50
commentcomment
15
img
@ramu8O81P

Carpenter

प्रेम प्रतीति विवश करे,, देखे झुके बड़े अहंकार, सकल जीव का उनमान क्या,वस् में हो करतार 🙏🙏🌻💐✨💫🌺🥀 ॐ हरी हरी
commentcomment
12
img
@ramu8O81P

Carpenter

ऐसा कोई पल नहीं यहाँ ,जिसमे जन्म न हो ,और नहीं ऎसा पल जिसमे मृत्यु घटित न हो, दोनों के बिच में जो जीवन ह,सो स्वतंत्र नहीं या तो जीव जीव से परतंत्र या फिर मन के आगे हार ह,, (गिनती के ही लोग हं जिन्होंने जीवन को मृत्यु से खेल कर जी गये ,,?बाकि सब चिड़िया घर सा, हमारा शोर सराबा ह 🥀🚩🌸🇮🇳🇮🇳 🙏🙏🥀🌸💫🌺🚩 ॐ हरी हरी
commentcomment
15
img
@ramu8O81P

Carpenter

दुनियाँ में सबसे धनि प्राणी वो हं, जिनकी अपने लिये ,सिमित इच्छा हं ?😊💫 अधिक माया होते भी हुवे भी (,और, और), की तर्ष्णा में जीवन देदेने वाला तो 😂😂 बिन पेंदे की बाल्टी हुवा!’ जो कभी न भरे ,, (सदा दीपावली संत को आठो पहर आनंद ) 🙏🙏🥀🌺🕉️✨🚩 ॐ हरी हरी
commentcomment
25
img
@ramu8O81P

Carpenter

चेतन से, संगत सन्त की,,बाकि जड़ संसार,, जड़ता, डूबे जहान में, सन्त करे भव पार !! 🙏🙏🕉️🥀🚩🌺💐🌻 ॐ हरी हरी
commentcomment
13
img
11 Jan
@ramu8O81P

Carpenter

साज, और ,स शरीर एक जैसे ही ह , परन्तु भाव का अंतर् फासला ह ,, दोनों अपने से संगीत निकालते हं,, तो मनुष्य अपनी प्रतिभा का सम्मान ढूंढता ह ,😊✨ पर साज़, की कोई बड़ाई नहीं ?,,सिर्फ गुँजन आवाज की बड़ाई ह (हमारी प्रतिभा का होना, अंतर् से ह , न की हमारी बनाई हुई ,ये हमारे संघर्ष से ,बस, बज उठता ह ,और मानव ,मै ,में भर्मित ह 🙏🙏🌻🌺🥀🚩 ॐ हरी हरी
commentcomment
17
create koo