koo-logo
BackbackKoo - R P GangwarGo to Feed
15 Sep
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (४०) मित्रो आपके सामने जो युद्ध में खड़ा है,वह कितना शक्तिशाली है? मापन कर लीजिए। दो धर्म,दोगले हिन्दुओं से मिल,संगठित प्रहार करने की योजना पर कार्यरत हैं। बहुत दुख होता है जब छोटी छोटी बिसंगतियों पर बेवजह टकराव, ईर्षाद्वेश से अपनी ढ़पली अपना राग सुनाई देता है। उद्देश्य एक तो निशाना भी एक ही रखिए। मोदी जी अपनी अद्भुत संगठन शक्ति से कैसे लोगों को जोड़ते हैं? हमेशा सकारात्मक।
commentcomment
35

Comments

img
15 Sep
@jitendra_111

Sanatan Dharm

🕉️
commentcomment
img
@Sant_Kumar_Sharma

देश भक्त

शुभ संध्या जय श्री राम जी
commentcomment
img
15 Sep
@Singh_12

Social Worker, Writer, Working With BIZNIS CAFE delhi

सुबह की प्रतीक्षा में ......☔ शुभ रात्रि 🙏 #देश_और_धर्म_की_रक्षा_करें
commentcomment
img
@sonia_pahuja

Teacher।Blogger।Writer

🙏🚩
commentcomment
img
@चन्दन_सिंह679VG

खेती व पशुपालन तथा राजनीति एवं समाज सेवा

आपका बहुत बहुत आभार🙏💕
commentcomment
img
शुभ रात्रि मित्र जय श्री कृष्ण 🚩🙏
commentcomment
img
@dwar22

स्तोत्र

जय श्री कृष्णा, 🚩
commentcomment
img
15 Sep
@rajsonkar

YouTuber/Activist/Student

शुभ संध्या 🙏🙏
commentcomment
img
15 Sep
@Gautam_mihani

Regional Manager - Diagnostic

Have a pleasant evening ☕
commentcomment

More Koos from R P Gangwar

17 Oct
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (७१) धर्म परिवर्तन रैकेट में आईएएस का नाम आने के बाद से लगता है कि यह कोई नये प्रकार की जेहाद तो नहीं? जिसमें बड़े पदों पर एन्टीनेशनल लोंगों को भरा जा रहा हो? सरकार सेकुलरों से घिरी होने के साथ साथ सीमाओं में भी बंधी है। मेरा अनुरोध है मित्रो कि #आईएएस_से_इस्लामिक_स्टडीज_हटाओ को वायरल करवा दो, जिससे सरकार सोचने पर विवश हो जाए। दूसरे विषयों की तुलना में % मार्कोंं की जांच की जाए।
commentcomment
58
@r_p_gangwar

Retired officer

आध्यात्म (६१) हृदय से दी गयी शुभेच्छा और विश्वास की विचार तरंगे अत्यधिक सूक्ष्म और उच्च फ्रीक्वेंसी की होती हैं। जब बहुत सारे लोग एक साथ एक ही भावना करते हैं, तो तरंगों की भेदन क्षमता और तीव्र हो जाती है, जो परिस्थितियों को भी अनुकूल करने की क्षमता रखती है। आप सब समीर वानखड़े को हृदय से शुभेच्छा भेजिए और विश्वास रखिए कि वह अवश्य विजयी होंगे, महाभारत के अर्जुन की तरह! जय श्रीकृष्णा मित्रो।
commentcomment
49
@r_p_gangwar

Retired officer

#उलझे_प्रश्न__प्रगतिबाधक_भृष्टाचार (१०) महाराष्ट्र में मठाधीश सारे गलत कामों के संरक्षक, संचालक और पोषक हैं। अर्नब के केस में क्या हुआ? जब साम, दाम न चला तो दन्ड पर उतर आए।सुशांत के केस में सेन्टर तक की ऐजेंसियां मैनेज हो गयीं। एकाध जो मैनेज नहीं होता उसपर व्यक्तिगत उतर आते हैं और सरकार उसके खिलाफ षडयंत्रों में शामिल हो जाती है। कल अर्नब था, आज वानखेडे हैं, कल कोई हिम्मत कर पाएगा?
commentcomment
78
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (७९) कभी कभी दुष्टों की दुष्टता से मन भ्रमित, व्यथित और क्रोधित हो उठता है। आज वानखेड़े प्रकरण को देखकर हर सज्जन व्यक्ति ऐसा महसूस कर रहा है, जैसे वह स्वयं टारगेट किया जा रहा हो? दुष्ट जो खुद सर से पांव तक गन्दगी में सना है, वह सबका ध्यान अपनी ओर से हटाने के लिए सज्जन में कमियां निकालता है। इस सिस्टम को कौन समझाये? ढ़ूढ़ो तो भगवान की कमियां भी निकाल दो?
commentcomment
27
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (६०) सत्य शास्वत होता है। सत्य वह है, जो है! झूठ वह है, जो है ही नहीं ! जो है ही नहीं उसकी कल्पना करना और कराना, एक अलग ही काल्पनिक दुनिया का निर्माण कर लेना! ऐसा किस्से कहानियों में सुना होगा, कि कोई जादूगर था जिसने जादुई दुनिया बना रखी थी, सब् काल्पनिक! जी हां ७० साल से ऐसा कनफ्यूज करके रखा है कि लोग सच समझना ही भूल गये हैं। सच सामने है, फिर भी स्वीकार करने को तैयार नहीं!
commentcomment
53
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (७८) #आईएएस_से_इस्लामिक_स्टडीज_हटाओ जिस देश में देशद्रोही भरे पड़े हों, बड़े बड़े पदों पर और मंत्रालयों में बैठे हों? वहां देशप्रेमियों को कठिनाइयों का सामना तो करना ही पड़ेगा! कभी हम विचलित हो जाते हैं! सोचते हैं, मोदी ने ऐसा क्यों किया ऐसा करना चाहिए? मोदी को अपनों की परवाह नहीं है, आदि? भाई यह ७० वर्षों की बिछाई गयी सतरंज है! इसलिेए संभल संभल कर दांव चलना होता है!
commentcomment
27
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (५९) #आईएएस_से_इस्लामिक_स्टडीज_हटाओ दृष्टिकोण! परस्थितियां कभी कभी मनुष्य के वश में नहीं होतीं! परस्थितियों को बदलने का प्रयास अवश्य करें परन्तु दुखी और निराश होकर नकारात्मक सोच को पोषित कभी न करें! यदि परिस्थिति अनुकूल न हो तो परिस्थितियों को देखने का दृष्टिकोण बदल लीजिए! आप पाएंगे कि प्रतिकूलता, अनुकूलता में बदलती हुई चली जाएगी! जय श्री राम मित्रो! शुभ प्रभात!
commentcomment
42
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (७७) #आईएएस_से_इस्लामिक_स्टडीज_हटाओ विपक्ष मजबूत होना चाहिए ऐसा लोग कहते हैं! पर कब? जब विपक्ष देशहित की बात पर सरकार से लड़े! पर यहां तो उल्टा है, राष्ट्रहित के मुद्दों पर सरकार की टांग खींचने से लोकतंत्र को कोई लाभ नहीं, केवल राष्ट्र की इज्ज़त कम होती है। वैक्सीन के सम्बन्ध में विपक्ष की टिप्पणियां यही साबित करती हैं। टिप्पणी आप सब जानते हैं, उल्लेख करने की जगह शेष नहीं!
commentcomment
32
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (५८) इच्छाएं मन को आंदोलित करती हैं! जिसे हम अशांति कहते हैं! अनियन्त्रित और अति-नियन्त्रित इच्छाएं दोनों ही अशांति का कारक हैं! यदि इच्छा होगी तो वह कर्म को जन्म देगी ही! यदि इच्छा नहीं होगी तो नीरसता उपजेगी! इसलिए इच्छा जरूरी भी है पर इच्छा नियन्त्रित हो और उससे उपजे कर्म का निस्पादन गीता के सिधांत के अनुसार हो तभी मन शांत रह सकता है! जय श्रीकृष्णा मित्रो।
commentcomment
51
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (७६) इस देश में ऐसी बहसें बहुत सुनी होंगी! हमें किसी से देशभक्ति का सर्टिफिकेट नहीं चाहिये! क्या सारे मुसलमान आतंकवादी हैं? यह सब बात घुमाने के तरीके हैं! सच तो यह है कि- मुसलमान भी देशभक्त हो सकता है, पर हर आतंकवादी मुसलमान ही होता है! मैं यह नहीं कहता कि हिन्दू गद्दार नहीं होता, हिन्दू भी गद्दार होता है! बस फर्क शिर्फ ही और भी का है! (ही और भी) ? को दुनियां देखे???
commentcomment
24
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (५७) मंत्र, तंत्र, और यंत्र मन्त्र से मानवीय चेतना को झकझोर कर आन्तरिक परिवर्तन व शोधन होता है, इसके अतिरिक्त परोक्ष जगत का परिष्करण भी होता है। तंत्र में मानवीय चेतना को पदार्थ में डालकर अपने लक्ष्य को भेदते हैं। तीव्र गति से प्रहार, पर आत्मपरिष्कार से वास्ता नहीं। यंत्र पदार्थ की ऊर्जा का उपयोग कर मानव को भौतिक सुख साधन प्रदान करता है, पर मानसिक शांति से कोई वास्ता नहीं।🙏
commentcomment
38
create koo