koo-logo
BackbackKoo - R P GangwarGo to Feed
13 Sep
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (३८) मुगल क्रूर थे तो अंग्रेज धूर्त। १००० वर्ष के शासन के बाद भी मुस्लिम शासक सनातन संस्कृति को उतना नुकसान नहीं पहुंचा पाये,जितना २०० सालों में अंग्रेज पहुंचा गये। इन्होंने सबसे पहले सनातन की रीढ़, गुरुकुल को समाप्त कर मांटेसरी पद्धत्ति शुरू की। फैशन और शिक्षा के नये माध्यम से जुड़कर लोग अपनी वेशभूषा और संस्कारों का स्वयं उपहास करने लगे। इसप्रकार एक धर्म विरोधी सैकुलर फौज तैयार हो गयी।
commentcomment
34

Comments

img
13 Sep
@nehaashi1722

हिन्दू विचारक एवं विद्यार्थी,,,हनुमान भक्त

जयतु सनातन 🙏🚩
commentcomment
img
13 Sep
@sharma.g

Activist

जय सूर्य नारायण
commentcomment
img
14 Sep
नॉन वेजेटेरियन और ईशाई मिशनरी दोनों को छोर कर गए लुटेरा अँगरेज़ लुटे हुए संपत्ति का काहे का रानी और प्रिंस
commentcomment
img
हिन्दू धर्म और संस्कृति पर पहले ८०० वर्ष मुस्लिम आक्रांताओं ने प्रहार किया, फिर २०० वर्ष अंग्रेजों और ईसाई मिशनरियों ने प्रहार किया। फिर वामपंथी ठगों ने और नेहरू की महाभ्रष्ट कांग्रेस ने पिछले ६५ -७० वर्ष तक घातक प्रहार किये । कांग्रेस ने तो भारत में गजवा- ए- हिन्द पूरा करने की पूरी व्यवस्था कर दी थी । मोदी हिन्दुओं को भगवान की देन हैं।
commentcomment
1
img
@Sant_Kumar_Sharma

देश भक्त

रात्रि वंदन जय श्री कृष्ण
commentcomment
img
13 Sep
@acuto

Advocate

🌷जय श्री कृष्णा🌷 गर्व से कहो हम हिन्दू है
commentcomment
img
13 Sep
@गंगा.रंजन.RSS

राष्ट्रीयवादी कटृर हिंदु 🚩 🇮🇳

रात्रि वंदन जी🙏 जय श्री कृष्णा 🌺🙏
commentcomment
img
13 Sep
शुभ संध्या🙏🚩
commentcomment
img
@thedhawalpathak

अभियंता | विचारक | राष्ट्रसेवी 🇮🇳

शुभसंध्या 🙏 हर हर महादेव 🚩
commentcomment
img
13 Sep
@तरुणKumar

सनातनी

🕉️ राधे कृष्णा! 🥀संध्या वंदन।🥀
commentcomment

More Koos from R P Gangwar

@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (७१) धर्म परिवर्तन रैकेट में आईएएस का नाम आने के बाद से लगता है कि यह कोई नये प्रकार की जेहाद तो नहीं? जिसमें बड़े पदों पर एन्टीनेशनल लोंगों को भरा जा रहा हो? सरकार सेकुलरों से घिरी होने के साथ साथ सीमाओं में भी बंधी है। मेरा अनुरोध है मित्रो कि #आईएएस_से_इस्लामिक_स्टडीज_हटाओ को वायरल करवा दो, जिससे सरकार सोचने पर विवश हो जाए। दूसरे विषयों की तुलना में % मार्कोंं की जांच की जाए।
commentcomment
52
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (७८) #आईएएस_से_इस्लामिक_स्टडीज_हटाओ जिस देश में देशद्रोही भरे पड़े हों, बड़े बड़े पदों पर और मंत्रालयों में बैठे हों? वहां देशप्रेमियों को कठिनाइयों का सामना तो करना ही पड़ेगा! कभी हम विचलित हो जाते हैं! सोचते हैं, मोदी ने ऐसा क्यों किया ऐसा करना चाहिए? मोदी को अपनों की परवाह नहीं है, आदि? भाई यह ७० वर्षों की बिछाई गयी सतरंज है! इसलिेए संभल संभल कर दांव चलना होता है!
commentcomment
9
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (५९) #आईएएस_से_इस्लामिक_स्टडीज_हटाओ दृष्टिकोण! परस्थितियां कभी कभी मनुष्य के वश में नहीं होतीं! परस्थितियों को बदलने का प्रयास अवश्य करें परन्तु दुखी और निराश होकर नकारात्मक सोच को पोषित कभी न करें! यदि परिस्थिति अनुकूल न हो तो परिस्थितियों को देखने का दृष्टिकोण बदल लीजिए! आप पाएंगे कि प्रतिकूलता, अनुकूलता में बदलती हुई चली जाएगी! जय श्री राम मित्रो! शुभ प्रभात!
commentcomment
36
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (७७) #आईएएस_से_इस्लामिक_स्टडीज_हटाओ विपक्ष मजबूत होना चाहिए ऐसा लोग कहते हैं! पर कब? जब विपक्ष देशहित की बात पर सरकार से लड़े! पर यहां तो उल्टा है, राष्ट्रहित के मुद्दों पर सरकार की टांग खींचने से लोकतंत्र को कोई लाभ नहीं, केवल राष्ट्र की इज्ज़त कम होती है। वैक्सीन के सम्बन्ध में विपक्ष की टिप्पणियां यही साबित करती हैं। टिप्पणी आप सब जानते हैं, उल्लेख करने की जगह शेष नहीं!
commentcomment
29
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (५८) इच्छाएं मन को आंदोलित करती हैं! जिसे हम अशांति कहते हैं! अनियन्त्रित और अति-नियन्त्रित इच्छाएं दोनों ही अशांति का कारक हैं! यदि इच्छा होगी तो वह कर्म को जन्म देगी ही! यदि इच्छा नहीं होगी तो नीरसता उपजेगी! इसलिए इच्छा जरूरी भी है पर इच्छा नियन्त्रित हो और उससे उपजे कर्म का निस्पादन गीता के सिधांत के अनुसार हो तभी मन शांत रह सकता है! जय श्रीकृष्णा मित्रो।
commentcomment
51
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (७६) इस देश में ऐसी बहसें बहुत सुनी होंगी! हमें किसी से देशभक्ति का सर्टिफिकेट नहीं चाहिये! क्या सारे मुसलमान आतंकवादी हैं? यह सब बात घुमाने के तरीके हैं! सच तो यह है कि- मुसलमान भी देशभक्त हो सकता है, पर हर आतंकवादी मुसलमान ही होता है! मैं यह नहीं कहता कि हिन्दू गद्दार नहीं होता, हिन्दू भी गद्दार होता है! बस फर्क शिर्फ ही और भी का है! (ही और भी) ? को दुनियां देखे???
commentcomment
23
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म (५७) मंत्र, तंत्र, और यंत्र मन्त्र से मानवीय चेतना को झकझोर कर आन्तरिक परिवर्तन व शोधन होता है, इसके अतिरिक्त परोक्ष जगत का परिष्करण भी होता है। तंत्र में मानवीय चेतना को पदार्थ में डालकर अपने लक्ष्य को भेदते हैं। तीव्र गति से प्रहार, पर आत्मपरिष्कार से वास्ता नहीं। यंत्र पदार्थ की ऊर्जा का उपयोग कर मानव को भौतिक सुख साधन प्रदान करता है, पर मानसिक शांति से कोई वास्ता नहीं।🙏
commentcomment
38
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (७५) शाहरुख खान को मुगालता हो गया कि वह असली बादशाह हैं! दाउद के गुर्गों से समीर वानखेड़े जी की ही जासूसी कराने लग गये! अब न पैसा काम आएगा और न कोई तुम्हारे लिए खड़ा हो पाएगा, क्यों कि बालीवुड के हमाम में सभी नंगे हैं! तुम्हारे चक्कर में वैसे भी सभी नशेड़ी नशेड़ियां फंसने बाले हैं! ध्यान से सुनोगे तो तुमको एक ही म्यूजिक सुनाई पड़ेगा! हौले हौले से नशा चढ़ता है! हौले हौले से------!!!
commentcomment
21
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यात्म ५६ खोखली हंसी, खोखले वाक्य ,खोखले भाषण आम हो गये हैं! जब बात में सच्चाई न हों तो खोखलापन आ ही जाता है! झूठे वाक्य भाव विहीन होते हैं और सच्चाई भावपूर्ण! व्यक्ति के हाव भाव, आंखें, शब्द सब सच्चाई बयान करते हैं! सच्चाई जानने के लिए किसी मशीन की आवश्यकता नहीं! बहुत से निर्णय जज अपने विशेषाधिकार से लेते हैं! सच्चाई दिखने पर मी लार्डस को यथोचित निर्णय लेना ही चाहिए! शुभप्रभात मित्रो!
commentcomment
44
@r_p_gangwar

Retired officer

#महाभारत (७४) एफएटीएफ, वर्ल्ड बैंक आदि संस्थाएं जब अफगानिस्तान, पाकिस्तान जैसे देशों की फंड़िग पर रह रह कर विचार करती हैं, तो बड़ी हंसी आती है। कौन सी मानवता की रक्षा हेतु इनका जी मचलता है? जो अपनी सारी शक्ति मानवता को रोंदकर अपने ऐजेंडे पर खर्चते हैं, उनको दी हुई मदद किस कार्य में लगेगी? नहीं समझे तो एक दिन तुम भी मारे जाओगे! १५/१० को आतंकवादी ने इग्लैड के सांसद डेविड एमस की नृशंस हत्या की है।
commentcomment
22
@r_p_gangwar

Retired officer

#आध्यातम (५५) मेरे पूज्य गुरुदेव कहा करते थे कि आदमी बहुत भुलक्कड़ हुआ करता है! उसे बार बार जगाते रहिए! उसकी विस्मृति की राख झाड़ते रहिए! असल में इंसान कहता तो है कि मैं सब जानता हूं,पर मानता कुछ भी नहीं! उसकी जानकारी, भाव संवेदना हीन शब्द और वाक्य होते है! जानकारी से भाव निकल जाये तो जानकारी निर्जीव हो जाती है! यही सनातन के साथ हुआ है! #आईएएस_से_इस्लामिक_स्टडीज_हटाओ जय श्रीकृष्णा मित्रो!
commentcomment
57
create koo