koo-logo
BackbackKoo - Shipra RanjanGo to Feed
👍👍✔ 🥀🥀नादान आईने को क्या खबर कि... चेहरे के अंदर भी एक चेहरा छुपा है ⚘🙏🏼🇮🇳🇮🇳
commentcomment

More Koos from Shipra Ranjan

Moredropdown-menu
@mukkisaini

Self employe

😜तलाक के बाद जज ने मुस्लिम जोडे से कहा- ’’अब तुम दोनों स्वतंत्र हो कोई रिश्ता न रहा’’ पति- अब हम आजाद हैं सारे रिश्ते खत्म पत्नी- या अल्लाह ऐसा न बोलिए मैं आपकी चचेरी बहन तो रहूंगी ही.......!!!😆😅😝😜 खून का रिश्ता कोई नहीं तोड सकता भाईजान!! आज से मुन्ना आपको मामू कहेगा😤😤😂😂
commentcomment
4
Moredropdown-menu
@mukkisaini

Self employe

🌿 *हे परमात्मा*, 🙏🏼 *अगर आप का कुछ तोड़ने का मन करे*, तो मेरा गुरूर तोड़ देना.. *अगर आप का कुछ जलाने का मन करे*, तो मेरा क्रोध जला देना.. *अगर आप का कुछ बुझाने का मन करे*, तो मेरी घृणा बुझा देना.. *अगर आप का मारने का मन करे*, तो मेरी इच्छा को मार देना.. *अगर आप का प्यार करने का मन करे*, तो मेरी ओर देख लेना.. ”मैं शब्द, तुम अर्थ, तुम बिन मैं वयथृ 🙏🏻सुप्रभात🌱
commentcomment
6
Moredropdown-menu
@mukkisaini

Self employe

💕🤷‍♂️ 💞🌿 तेरे गाॅव में आके गुमनाम हो गए तेरी चाहत मे अपनी मुस्कान खो गए! डूबे तेरी मुहब्बत मे तो ऐसे डूबे। कि जैसे तेरी आशिकी के गुलाम हो गए।💞 🌺शुभ रात्रि जी 🙏🏻🌱
commentcomment
1
Moredropdown-menu
@mukkisaini

Self employe

🤷‍♂️🌿🌿 नई पाज़ेब की छम- छम पुरानी हो गई। ज़िगर में हर धड़कती आग पानी हो गई। तुम्हारे हर फ़साने में कई क़िरदार रहते हैं। शराफ़त! ये तभी तो आसमानी हो गई। अज़ब ये चापलूसी का हुनर जब से तुम्हें आया। तुम्हारी नागफनियाँ रातरानी हो गई !🌱🌱🙏🏼🙏🏼😊
commentcomment
1
Moredropdown-menu
@mukkisaini

Self employe

🌿🌿हमारा गाँव कम-से-कम उजाले को तरसता है। तुम्हारे शहर की जगमग सुहानी हो गई ! मुनासिब ज़िन्दगी में तो तुम्हें हर क़ामयाबी है। हसीं मुस्कान लब की राजधानी हो गई ! सियासत ज़िन्दगी में इस तरह हावी हो गयी है अब। हकीकत में परेशां जिन्दगानी हो गयी 🤷‍♂️🙏🏻🙏🏻😊🌱
commentcomment
1
Moredropdown-menu
@mukkisaini

Self employe

🙄सावधान 🇮🇳जयहिन्द जय भारत जय भारती जय जवान नकली किसान .... बड़े परेशान!!😫😫 या फिर खालिस्तान???? पूछता है हिन्दुस्तान 🇮🇳🇮🇳🇮🇳
commentcomment
2
Moredropdown-menu
@mukkisaini

Self employe

🌿🌿 तुम्हारे हाल की कोई ख़बर नहीं आती सुकूँ से नीन्द हमें रात भर नहीं आती ज़ुबाँ से कह तो रहे हो कि ख़ुश बहुत हूँ मैं ख़ुशी तो रुख़ पे तुम्हारे नज़र नहीं आती बताएँ क्या की जुदा जबसे हो गए हो तुम हमारे लब पे हँसी भूलकर नहीं आती ख़ुशी बस एक हमारे ही घर नहीं आती😊😊🙏🏼🙏🏼🌱शुभ रात्रि दोस्तों
commentcomment
1
Moredropdown-menu
@mukkisaini

Self employe

पडोसन🙄
commentcomment
7
Moredropdown-menu
@mukkisaini

Self employe

🙄एक बच्चा रो रो कर कह रहा था माँ मैं गधे पर बैठुंगा 😫 पास में उसके खड़े पिता से माँ बोली ... बिठा लीजिये ना , क्या फर्क पड़ता है ☺😅😄🤣🤣
commentcomment
1
Moredropdown-menu
@mukkisaini

Self employe

🌿🤷‍♂️हिमालय की गोद में... क्या गजब है स्कूल की मजेदार प्रार्थना.... एक बार में एक शब्द समझने की कोशिश करें...देशभक्ति, भारत की महिमा, प्रार्थना की मिठास, ईयरफोन लगाकर सुनें।🌱🚩🙏🏻😊🇮🇳
play
commentcomment
2
create koo