koo-logo
backकू
सब को अमृत चाहि ये कला बारी पर किसी का धियाँन नहीं
comment