koo-logo
koo-logo
backKoo - श्याम लाल व्यासGo to Feed
#कूपेकहो विश्व के छोटे-छोटे देश अपने धर्म संस्कृति संस्कार और परम्पराओं यहां तक कि राष्ट्र धर्म को आज तक बचाए हुए है। फिर भारतीय ता और हिन्दू धर्म व सनातन धर्म पर ,,, में, ,, यह परिवर्तन रुपी कुठाराघात क्यो? क्या लोकतंत्र यही है क्या इसी को लोकतंत्र कहते हैं चुनी हुई सरकार के सामने यह सब जायज है। क्या लोकतांत्रिक व्यवस्था इसी लिए है।। क्या समग्र राष्ट्र के लिए यह यह घातक नहीं।
commentcomment
1

Comments

img
राजनैतिक दलों की अभिव्यक्ति की आजादी? सत्ता प्राप्ति के लिए राई का पर्वत और पर्वत की राई बना देते हैं। कारण स्पष्ट है देश का नेता अपने स्वार्थ के लिए कुछ भी झूं ट सच को अपनी जनता के सामने परोसता है उन का अनुसरण जनता करती है। क्या यह सच नहीं
commentcomment

More Koos from श्याम लाल व्यास

img
सावधान ? मेरा देश बदल रहा है हिन्दू जाग रहा सनातन धर्म एक शक्ति एक ऊर्जा एक सकारात्मक सोच से आगे बढ रहा रहा जय श्री राम
commentcomment
img
भाषा भव पार ल देती है मां शब्द ही नहीं जीवन का अभ्युदय है तीन रुप में मात्र भाषा मां जन्म देने वाली ओ मात्रभूमि जिसने जीतना सहेजा उसे उतना मीला जय मां ।।
commentcomment
img
आज करें गोवर्धन पूजा काम नही कोई दूजा सनातन संस्कृति अपनाइए शक्ति को आगे बढाईए। देश धर्म का नाता है सनातन धर्म सबका दाता हैं।। गोवर्धन पूजा की हार्दिक शुभकामनाएं बहुत बहुत बधाई सबको राम राम
commentcomment
img
जीवन का उत्कर्ष तो प्रकाश है प्रकाश की एक किरण अंधकार को अपने में समेट लेती है। धीरे धीरे अंधकार सिमटता जा रहा है आप सभी के अथक सहयोग से। शुभ दीपावली शुभ दीपोत्सव पर्व शुभ मंगल कामनाएं हार्दिक शुभकामनाएं बहुत बहुत बधाई दीपावली के पावन पर्व की ***आप स भी को **** जय श्री राम
commentcomment
img
एक दिया पांच बाती पहली बाती मेरे देश के वीर सेनिको के नाम दुसरी बाती किसानों के न तीसरी बाती गरीबो के नाम चोथी बाती बेरोजगारों के नाम और पांचवीं बाती मेरे देश की नारी शक्ति के नाम इस दिपावली हम सब पांच बाती का एक दिप जलाए ओर परमात्मा से प्रार्थना करे कि इन सबका जीवन सुखमय निरोग ओर खुश हाल रहे। जय श्री राम जी
commentcomment
img
ऋतु परिवर्तन विषमता में समता महान संरक्षण ने परमात्मा का रुप बदलकर प्रकृति के संतुलन ने के लिए ,**ऋषि***रुप **ऋषि***रुप में प्रकति हम सब के लिए हमारा सुरक्षा कवच बनकर हमे त्योहारों को मनाने का संदेश दिया। नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ावा देकर देश को किस दिशा में ले जाना चाहते हैं यह एक गंभीर विषय है। देश के हर जनमानस की बुद्धि विवेक से परे है। धनतेरस रुपी पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं।।।
commentcomment
img
यदि संस्कार संस्कृति धर्म और राष्ट्र हित राष्ट्र भाव भावना से परिपूर्ण भाव से भरे हो तो बच्चे दोही अच्छे। क्योंकि शेर के दो ही बच्चे पुरा जंगल कांपता है? पर शिक्षा व भाव ऐसे भरे हो।। लोकतंत्र की बिसात अलग है।। जय श्री राम
commentcomment
img
हम बहुत दुखी है समय आ गया विरासत में मिली पुंजी का उपयोग आज भारत भूमि आतंकवाद के रूप में भोग रहा है। विनम्र श्रद्धांजलि शत-शत नमन मेरे देश के वीरों को।। जय हिन्द वन्देमातरम
commentcomment
1
img
#नानाजी_देशमुख एक महान संत समाज सेवा की ओर प्रेरित करने वाले आधुनिक युग के प्रणेता की महान आत्मा को शत-शत नमन। समाज कल्याण समाज सुधारक के रूप में जिन भी महान आत्मा ने भारत को दिशा दी ऐसे महान पुरुषों को एक पार्टी अथवा दल या सरकारों के बदलने के बाद पार्टी तक सिमित न ह किया जाना चाहिए। सरकार किसी भी पार्टी की हो किन्तु उनका योगदान हमारा पथ है जय श्री राम
commentcomment
img
मनुष्य जीवन का आधार केवल पेट भरा ई ओर चाटूकारिता कत ई नहीं हो सकता? अथाह खून बहाया प्राणो का उत्सर्जन किया अपने सामने छोटे छोटे बच्चों को जिन्दा दिवारो में चूनवा दिया आधा शरीर करवत से काटा गया धीमा जहर और लोहे की गरम गरम सरियो से यातनाएं दी गईं और आज लाशो पर राजनीति केवल,, कुर्सी, ,, पाने के लिए देश कितना ओर आगे जाएगा। संस्कृति संस्कार राष्ट्र हित व धर्म-कर्म त्याग का मोल नहीं रहा क्यो?
commentcomment
create koo