koo-logo
koo-logo
इस तस्वीर को देखने और चिंतन करने के बाद आपको #गांधियों से नफरत हो जाएगी... और हां ये तस्वीर तब की है जब नेहरू का कपड़ा और जूता विशेष विमान से आता था... यह एक तस्वीर है 1948 के ओलंपिक की जो लंदन में हुआ था। हमारी फुटबॉल टीम ने फ्रांस के साथ मैच 1-1 से बराबर किया था। हमारे खिलाड़ी इसलिए जीत न सके क्योंकि उनके पास जूते ही नहीं थे । और वह नंगे पैर पूरा मैच खेले थे। जिसके कारण चोट भी लगी थी।
commentcomment
3

Comment

img
किंतु खिलाड़ी के चेहरे की चमक देखने लायक है जो अपने देश के लिए जान लगा देने वाली खुशी झलक रही है बाकी ठरकी बुड्ढे को आशिकी से फुर्सत नहीं थी बची कुची सिगरेट और कपड़े धुलवा कर विदेशों से हवाई जहाज से फुर्सत नही थी हरा मि ठरकी को👈😠😊🙏🏻
commentcomment
0
img
जूतों के बी मैच जितना बहुत मुश्किल था हस्ते होंगे हमारे देश के प्रधान मंत्री पर .पर बेशर्मो क कोइए फर्क नहीं पड़ता था .🙏😁😁😁😁
commentcomment
0
img
@guest_8307D

Pharmacist

बिल्कुल सच है जी
commentcomment
0

More Koos by this user

img
कोरोना एक छुआ छूत की बीमारी है, और छुआ छूत को एक सामाजिक कुरीतियों के रूप में हमे पढ़ाया जाता था। उस पढाई का क्या करे? महामारियां तो पहले भी आयी थी पर बुद्धि हमे अब आयी है।
commentcomment
0
img
-#नम्बी_नारायणन देश के एक ऐसे इंटेलीजेंट साइंटिस्ट रहें..., जिन्होंने ISRO को NASA के समकक्ष ला खड़ा किया था मूल रूप से तमिलनाडु के लेकिन जन्म से केरल के नम्बी नारायणन क्रायोजेनिक तकनीक पर काम कर रहे थे..., क्रायोजेनिक तकनीक कम तापमान में सैटेलाइट इंजन के काम करने से संबंधित तकनीक थी,
commentcomment
0
img
पुष्पराज व पीयूष जैन
commentcomment
1
img
हम मनुष्य तो हैं ही सिर्फ
commentcomment
0
img
*एकांत ”ईश्वर” का दिया सबसे,* *”नायाब” तोहफा है..* *और* *”अकेलापन” दुनिया की दी हुई* *सबसे बड़ी सजा है...* 🕉️ Suprabhat 🙏
commentcomment
3
img
स्वागत करिये नया साल है, हमे बता देना आपका क्या हाल है
commentcomment
0
img
“जीवन में दिखावे की अहमियत इतनी बढ़ गई है, कि खुश दिखना अब खुश रहने से ज़्यादा आवश्यक हो गया है” जय श्री राम🙏
commentcomment
0
img
ये एक 11 साल की लड़की है इसके पास रेस मे दौड़ने के लिए जूते नही थे तो इसने अपने पैरों पर टेप से जूतों का डिज़ाइन बनाया और उसपे nike ( जो कि जूते बनाने वाली एक बहुत बड़ी कंपनी है )लिख दिया । आपको जानकर हैरानी होगी कि ये लड़की इन्ही टेप वाले जूतों से दौड़कर 3 गोल्ड मैडल जीत गयी ।
commentcomment
0
create koo