koo-logo
BackbackKoo - जैविक भारत अभियान√Go to Feed
पितृपक्ष के अवसर पर हमारे सभी पूर्वजों को सादर प्रणाम और शुभकामनाएं। जो डीएनए के रूप में हमारे शरीर में विराजमान है। *पितृपक्ष* की शुभकामनाएं।
commentcomment
3

Comments

img
@anjani_amu

Volunteer,कवि,शायर,विचार ,आलोचक, Dramaqueen, Software Skille

🪔🙏
commentcomment
img
20 Sep
ॐ नमः शिवाय,
commentcomment
img
🌷🙏🌷🙏🌷🙏🌷🙏🌷🙏🌷🙏
commentcomment

More Koos from जैविक भारत अभियान√

जो लोग अन्दर से मर जाते हैं, अक्सर वही दूसरों को जीना सिखाते हैं..!!
commentcomment
1
अपनों से कभी इतनी दूरी न बढ़ाएं कि दरवाजा खुला हो.. फिर भी खटखटाना पड़े..।।
commentcomment
आज परेशानी है तो कल सुकून भी आयेगा, भगवान तो मेरा भी है आखिर कब तक मुझे रुलाएगा..।।
commentcomment
शिकारी तो हम भी हैं , मगर हमने कभी कुत्ते नहीं मारे..!!
commentcomment
2
अपनी झोपड़ी में ही बहुत खुश हूँ मेरे मालिक, सुना है महलों की तन्हाई बहुत सताती है..!!
commentcomment
यह कभी नही भूलना चाहिये कि कभी किसी ने आपकी मदद की थी।
commentcomment
1
बिखर जाते हैं , शबनम से । महक जाते हैं, गुलशन से। जो खो जाए , यकीं तो। हो जाते हैं , सहरा से, निभाने की । कशिश न हो , तो कभी चुभते । भी हैं नश्तर से।।
commentcomment
“ताकत आवाज में नहीं अपने विचारों में रखो .. क्योंकि.. फसल बारिश से होती है, बाढ़ से नहीं .. रिश्ते बरकरार रखने के सिर्फ एक ही शर्त है भावना देखें संभावना नहीं “
commentcomment
*आत्मविश्वास हमारा सबसे* *बेहतरीन साथी है,* *अनिवार्य नही है कि इससे* *सफलता मिलेगी* *लेकिन* *चुनौतियों का सामना करने की* *शक्ति अवश्य मिलेगी ।।* 🌹‼️सुप्रभात‼️🌹* जय श्री राम🚩🙏
commentcomment
“शब्दों में इतनी ताकत होती है, कि ये किसी भी रिश्ते को बना या बिगाड़ सकते हैं” जय श्री राम🙏
commentcomment
create koo