koo-logo
koo-logo
कोई दो वक्त, पांच वक्त,भोंपू बजा रहा है कोई | जो दिल की, सांसों की धड़कनों तक का मालिक है, | उस खुदा को, ईश्वर को , कलमों से, मंत्रों से , जगा रहा है कोई॥
commentcomment
0

More Koos by this user

img
ज्यों ज्यों आपके शब्द कम होते जाते हैं, त्यों त्यों आप सत्य के समीप होते जाते हैं | जब शब्द बिल्कुल ही समाप्त हो जाते हैं, तब आप सत्य को प्राप्त हो जाते हैं या यूँ कहिये आप धार्मिक हो जाते हैं |
commentcomment
0
img
सिद्ध V/S गिद्ध शुभ रात्रि 🙏जय श्री राम🙏
commentcomment
0
img
बड़ी अजब, हे परमात्मा तेरी कारीगरी एक अकेला सिद्ध ही, सौ गिद्धों पर भारी |
commentcomment
0
img
संसार में केवल हिन्दू समाज ही एकमात्र सहिष्णु समाज है, जिसमें धार्मिक गद्दारों को, किसी प्रकार की सजा का प्रावधान नहीं है | अन्यथा है किसी इसाई में इसाईयत का विरोध करने का साहस और है किसी मुसलमान में इस्लाम की खिलाफत करने की हिम्मत !
commentcomment
2
img
इसे कहते हैं, घोर कलयुग -- जो जाहिल लोग बाबा जी की छाया को भी छूने के लायक नहीं है, वही तुच्छ लोग अपने आपको नता घोषित किये बैठे हैं | सभी सनातनियों को एकजुट होकर, इन झूठे, लालची, अपराधी और खानदानी भृष्टाचारियों को सबक सिखाना चाहिए |
commentcomment
0
img
कुछ कर्तव्य परायण, कर्मयोगियों के राजनीति में आने के बाद, सभी गिद्धों की रात की नींद और दिन का चैन उड़ गया है |
commentcomment
0
img
मुझे अफसोस है कि एक सिद्ध के मुकाबले में सभी गिद्ध इकट्ठा हो गये हैं !
commentcomment
1
img
नैतिकता को सीखाया जा सकता है, धर्म को नहीं | धर्म तो आंतरिक अनुभव है |
commentcomment
0
img
उत्तर प्रदेश में भाजपा की जीत या हार से हिन्दूओं की दिशा और दशा तय होगी | जय श्री राम🚩
commentcomment
1
create koo