koo-logo
koo-logo
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

लाउडर दैन वड्स के अनुसार नजरें मिलाकर बात करने से सामने वाले को ये संदेश जाता है कि आप ईमानदार और सच्चे हैं।आप जो कह रहे हैं उस बात में पूरी तरह से यकीन करते है।डरे हुए नही है, आत्मविश्वास से भरे हुए हैं। हमेशा दूसरों की आंखों में आँखें डाल कर बाते करें।इससे न सिर्फ आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा बल्कि सामने वाला भी आप पर विश्वास करेगा। आप सामने वाले को प्रभावित करने में सफल रहेंगें।
commentcomment
0

More Koos by this user

img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

@guest_OKIQ1 कू पर स्वागत है .चर्चापरिचर्चा करें, sakaratmk
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

हवन ,दिवान महल्ला पटना सिटी में
commentcomment
1
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

सुरेन्द्र8939 के विचारों को सुनें ”सपने देखने की इच्छा जगाइये साकार करने के कल्पना करें।” https://www.kooapp.com/koo/सुरेन्द्र8939/329d3620-4989-4981-bdf7-41146a68fc76
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

सपने देखने के इच्छा जगायें,साकार करने की कल्पना करें।पूर्ण होगा,बढ़े आगे।अगर कोई व्यक्ति अपने सपनों की दुनिया में पूरे आत्मविश्वास के साथ बढ़ता जाता हैसाथ ही सोच कल्पना का के अनुसार जीवन जीने का प्रयास करता हैतो तय है की उसे जल्दी सफलता मिलेगा।dr वेन के अनुसार सपने और कल्पना।सपने देखने की इच्छा जगयेसाथ कल्पना करें, यह सब हासिल कैसे हो।जो सोचे है,कल्पना के अनुसार जीते है तो पूरी कायनात से कामना पूर्ण
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

कल्पनावादी मन निरंतर सामन्जस्य के निहित सिद्धांत का खामोश प्रक्रिया है।अवचेतन निरंतर कार्यशील है,आप चाहे या नही,शरीर का निर्माता है।अवचेतन मन खुद का जीवन है।जो हमेशा सामंजस्य,सेहत,शांति,के ओर होता है।इसके भीतर दैवीय मानदंड है।हमारे माध्यम से हर समय अभिव्यक्ति चाहता है।”आपको सच्चाई जानना होगा,सत्य आपको मुक्त कर देगा।”अवचेतन का झुकाव हमेशा जीवन के दिशा में रहता है।असमंजस्य विचार,विवाद पैदा करेगा।
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

अगर आपके सोच अवचेतनमन के रचनात्मक सिद्धांत के संजस्यमे है। उपचार में आपको अपने पूरे तंत्र में अवचेतनमन के महत्वपूर्ण शक्तियों का प्रवाह,फैलाओ बढाना पड़ता है।डर,चिंता,तनाव,ईष्या,नफरत विनाशक विचार को हटाकर राहत पा सकते है,इस विचार सेलाभउठा तंत्रिकाओं और ग्रंथियों को कमजोर,नष्ट होने सेबचा सकतेहैं।वाडी टिशू को भीजो सारी अवशिष्ट पदार्थो के उत्सर्जन को नियंत्रित करता है।शरीर को भी साफ रखता है।स्वस्थरहे
commentcomment
1
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

स्वास्थ्य और सुख का बुद्धिमतापूर्ण तरीका यह रहता है किमेडिकल साइंस के योग्यता और ईश्वर केआस्था,आध्यत्मिक विज्ञान के ज्ञान,अनुभव,तकनीक का मदद लें।ईश्वर विज्ञान के प्रतिनिधि(डॉक्टर)के माध्यम,आस्था के प्रतिनिधि,के माध्यम से भीजान सकते हैतत्कालीन उपचार में मनोवैज्ञानिक तत्वों पर जोर देती है।मानसिक अवस्था,शारीरिक स्वास्थ्यके करीबी सम्बंध को महसूसकरनेकाहैआस्थाविज्ञान उपचारक प्रक्रिया महत्वपूर्ण बन जाताह
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

आर्थिक भविष्य पर शीर्ष देशों में भारत।८०% शहरी भारतीय मानते है यह साल पहले से बेहतर।२०२२ में ८०% शहरी भारतीय २०२१ के तुलना में अधिक आर्थिक संभावनाओं वाला साल होगा।जबकि इस मामले में दुनिया का औसत ७७%है।चीन में ८७%लोग मानते हैं की २०२२ वेहतर वर्ष होगा। क्या यह देश के विकाश दर में माननीय प्रधान मंत्री के सक्रिय योजना कार्यान्वय का योगदान है।
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

वह सोच जो हमें अग्रणी बना रही है दुनिया में।९९%सीईओ मानते है तेज विकास।दुनिया के ७७% सीईओ मानते है, इस वर्ष वैश्विक विकास में सुधार होगा।भारत के९९% सीईओ देश के विकास को लेकर आशावादी है।९४%वैश्विक विकाश को लेकर आशावादी है।
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

आज के शासन व्यवश्था देखेबड़े अपराधी खुलेआम घूमते है,लेकिन हनुमानजी के शैली कुछ और था,सीताकेपता लगाकर,हुनमान का लक्ष्य पूरा हुआ थाह के लिएजातिस्वभाव के आवरण में अशोक वाटिका उजाड़ी,फिर बंधकर वहां पहुँचे,बड़ों पर हीहाथ डालना है,तब इकन्नी को क्यो पूछेंयह बताना चाहते थे,रावण को सामने लंका जलाई और उसे संदेश दिया,हमें शिकंजा बड़े अपराधी पर कसना चाहिएनहीतोसमय का दुरुपयोग होगा मोदीअनुकरणकरे दुर्दांत सजा दे
commentcomment
1
create koo