koo-logo
koo-logo
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

@guest_P1QN6 को पर स्वागत है ,चर्चापरिचर्चा करे ,सकारात्मक
commentcomment
0

More Koos by this user

img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

@guest_TBSDI कू पर स्वागत है, चर्चापरिचर्चा करें, सकारात्मक
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

मोदीजी के सफलता उनके स्वाध्याय, लगनशीलता, कार्यकर्त्ताओं के साथ आत्मीयता के कारण है।ये कार्यकर्त्ताओं में उपस्थित मानवीय भावनाओं के सरलता को पहचानते है।इनके स्व अवधारनाएँमजबूत हैंऔर पार्टी के सामान्य कार्यकर्त्ताओं द्वारा दिए गए सुझावों,रचनात्मक विचारों का दिल से स्वागत करते हैं.पार्टी में ऐसा वातावरण निर्मित किया हैजहाँ सादगी,खुलापन मौजूद है,इन्होंने महत्वपूर्ण योगदान को पहचानेकार्यकर्त्ता को।
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

तुष्टिकरण का कभी जीत नही होता किसी शक्ति को अधिकार न दे जो जीवन के लक्ष्य से भ्रमितअपने छिपे हुए सामर्थ्य,प्रतिभा को दुनिया के सामने लाना,मानवता का सेवा करना।आदर्श के प्रति निष्ठावान रहें, ईश्वर द्वारा दी गयी बुद्धि,सत्य,सुंदरता को उपयोग में लाना।एक अंश केसामन्जस्य का अर्थ है सारी दुनिया का सामंजस्य।अंश ही पूर्ण हैऔर पूर्ण ही अंश है, आपके ऊपर दूसरों का कर्ज प्रेम के रूप में है,जिसे आपको चुकाना है।
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

आपका स्वस्म्वाद आपके विचारों, भावनाओं का प्रतिनिधित्व करता है। अन्य लोगों के साथ आपके व्यवहार और प्रतिक्रिया द्वारा अनुभव किया जा सकता है।अपनेआप केलिए जो चाहते है,वही कामना दूसरे के लिए भी करें।यह सामन्जस्यकारी मानवीय रिश्तों की कुंजी है।दूसरे के साथ रिश्ते बनाने के लिए प्रेम ही एकमात्र उत्तर है,प्रेम का अर्थ दूसरों को समझना,उनके भलाई की कामना समझदारी रखना है।सफलता,उन्नति,सौभाग्य प्रसन्नताअनुभवहै
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

सौभाग्य और दुर्भाग्य मनुष्य के दुर्बलता के नाम है। पुरुषार्थ ही सौभाग्य को खींच कर पास लाता है।
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

खुशी का सिद्धांत जीवन में कारगर है।मनोवैज्ञानिकों का मानना है कि प्रकृति ने हमें खुशी का चाहें जो भी स्तर है निर्धारित किया है,हम मष्तिष्क के साथ कुछ ऐसेकदम उठा सकते है जिनसे हमारे खुशी के भाव में बृद्धि हो सकता है।ऐसा इसलिए क्योकि हर पल मिलने वाली खुशी हमारे दृष्टिकोण पर निर्भर है।किसी भी समय पर सुख दुख का हमारे स्थिति से कोई सम्बन्ध नही होता,यह इसपर निर्भर है कि हम इस स्थिति को किस तरह देखते है
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

आज के समय और राजनीति पर चिंन्तन करें।महान समाजवादी नेता dr राम मनोहर लोहिया की ”सप्त क्रांति” में एक क्रांति थी-’जात तोड़ो’।आज कलियुगी समाजवादी पार्टी का नारा है,”जात जोड़ों” सपा का यह राग भी छेड़ा है,वह सत्तारूढ़ होने पर जातीयता का खुला पक्षधर रहेगा।यह भारतीय राजनीति का काला अध्याय शुरू होनेवाला है ,जो जातीय उन्माद फैलाने वाला है,चिंतनीय निंदनीय होनेवाला है।प्रबुद्ध जन से अनुरोध आप भी चिंन्तन करे ।
commentcomment
0
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

समय पहचानें,किस चीज से लगाओ हैअन्यथा जीवन बिन पतवार के नाव है,मंजिल कैसे कटेगा।जिज्ञासा करे अपनेआप से,जीवन उद्देश्य क्या है?सबाल का जबाब दिमाग से नही,मन को देने दें।चिंन्तन एक मिनट मौन हो जायँ, दिमाग में एक कौंध आयेगा, जबाब पर शंका न् कर सोचे कौन सा कदम उठा सकते है।स्वं पता नही होता,चाहते क्या है।निश्चित रूप से हमें क्या नही चाहिये।जो नही चाहते है,सोचना बन्द करें, अवचेतनमन प्लानिंग कर चुका है ।
commentcomment
1
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

@guest_T8SAT कू पर स्वागत है, चर्चापरिचर्चा करें ,सकारत्मक
commentcomment
1
img
@सुरेन्द्र8939

समस्या का ज्योतिषीय विश्लेषण, सामयिक विचार,ज्वलंत घटना पर चि

समाज में देखते है कि बच्चे किस तरह जल्दी से माता-पिताके रवैये, आदत, रुचियों को सीखते हैं।चाहें व्यवहार के तरीके,राजनैतिक विचार सीखकर माँ-पिताके सोच का जीता जागता प्रतिबिम्ब होता है, वयस्क भी समाज के सकारात्मक ,नकारात्मक रुचि के अनुसार नकल करता है,दोनों के सोच और कार्य में समानता रहेगा, साथ ही सामने वाला कुछ सकारात्मक सिख सके।यह रवैया समाज में एक सामाजिक बदलाव ला सकता है।प्रयास करे,देश, समाजकेलिये
commentcomment
0
create koo