koo-logo
BackbackKoo - Kamlesh कैवलय मुनीGo to Feed
जम्मू कश्मीर में हिंदू मुस्लिम दंगों के दौरान महात्मा हंसराज अपने स्वयंसेवकों के साथ अविलंब वहां पहुंचे और उनके द्वारा संकटग्रस्त क्षेत्रों में जगह-जगह मुफ्त लंगर खोले गए
commentcomment

More Koos from Kamlesh कैवलय मुनी

Moredropdown-menu
@कमलेशकैवल्यमुनिबरेली

आर्य समाज बरेली

कर लो अपने मन की मनमानी. आओगे तो पौते का बेटा बनके. अच्छा बुरा नजारा तुम्हारे सामने होगा. जो बोओगे वही तो तुम आगेआके काटोगे
commentcomment
Moredropdown-menu
@कमलेशकैवल्यमुनिबरेली

आर्य समाज बरेली

परमेश्वर बड़ा दयालु है. अच्छे व बुरे कर्मों को तो भोगना ही पड़ेगा
commentcomment
Moredropdown-menu
@कमलेशकैवल्यमुनिबरेली

आर्य समाज बरेली

प्रभु प्यारे से जिसका संबंध है उसे हरदम आनंद ही आनंद है
commentcomment
Moredropdown-menu
@कमलेशकैवल्यमुनिबरेली

आर्य समाज बरेली

किसी के काम जो आए उसे इंसान कहते हैं. पराया दर्द अपनाए उसे इंसान कहते हैं
commentcomment
Moredropdown-menu
@कमलेशकैवल्यमुनिबरेली

आर्य समाज बरेली

मेरे मित्र ने पूछा. आपका इस दुनिया में सच्चा साथी कौन है. मैंने कहा सर्व व्यापक परमात्मा
commentcomment
Moredropdown-menu
@कमलेशकैवल्यमुनिबरेली

आर्य समाज बरेली

दिनेश शास्त्री जी आपको सादर सप्रेम नमस्ते जी
commentcomment
Moredropdown-menu
@कमलेशकैवल्यमुनिबरेली

आर्य समाज बरेली

ईश्वर जो कुछ करता है. अच्छा ही करता है. मानव. तू परिवर्तन से काहे डरता है
commentcomment
create koo