backकू
यह दुःख ही है,जो सारे संसार को शरण देता है ! इसके बिना प्रेम की शोभा ही नहीं...! प्रेम यदि कृष्ण है,तो दुःख इसकी कनिष्ठा पर धारित गोवर्धन पर्वत....!
...
3रीकू8लाइक्स
re3
like8
WhatsApp
img
Business Owner
राधे कृष्णा जी
comment
re
like1
WhatsApp
img
ask