backकू
🌹🌹 शुभरात्रि 🌹🌹 तुलना के खेल में मत उलझो साहब... क्योंकि.... इस खेल में कहीं कोई अंत नहीं है... जहां से तुलना की शुरुआत होती है, वहीं से आनंद और अपनापन खत्म होना शुरु हो जाता है ..। 🌹🌹 जय श्री राम 🌹🌹
...
2रीकू15लाइक्स
like15
re2
WhatsApp
img
ये बात भी है तुलना जैसी प्रतियोगिता में इंसान आगे बढ़ने को उत्शहित भी होता है पर्तिस्पर्धा हेतु ...जी तोड़ म्हणत कर अलगे बढ़ने को प्रयास रत रहता Hai.. थैंक्स ...तो You..
like1
comment
re1
WhatsApp
img
Engineer
जय श्रीम राम
like1
re
WhatsApp
img
ask