back
user
यह असम राज्य में है, पूर्वोत्तर क्षेत्र के सुदूर गाँव में इन बच्चों को कृष्ण भावनामृत में प्रशिक्षित कर रहा है और वे नियमित शिक्षा भी प्राप्त करते हैं। इसी प्रकार मंत्र उच्चारण की शिक्षा राष्ट्र के सभी विद्यालयों में दी जानी चाइयें। जय सनातन धर्म।🚩
user
Replying to @abhishek00
0/400