back
user
अब तो लगता है कांग्रेस का आलाकमान अपनी पार्टी को अराजकता वादी चेंगड़ो का गिरोह बनाकर ही मानेगी।सिद्धू महापुरुष तो पहले से ही ड्रामा मंच संचालि त कर रहे थे।कन्हैया और मेवानी नामक दो नये जोकरों को साथ लेने से रही सही कमी भी पूरी हो जाएगी। मनसा सिद्घम रे बालका।
user
Replying to @mishrarajesh
0/400