back
user
बाजीराव पेशवा कभी कोई युद्ध नहीं हारे फिर भी लोग सिकंदर की माला जपते है जो की पराजित योद्धा था। इसे ही मानसिक गुलामी कहते हैं
user
Replying to @Hpsrivastava
0/400