back
user
श्रीराधागोविंदाभ्यां नमो नमः ऊँ श्रीराधाकृष्णाय नमो नमः समय वितता जाता वह सुखमय पल लौट कर न फिर आता हम आपके इंतजार में ”Radhe ” यू ही सूखता जाता , कर दो वारिश इस सूखे जमीन पर ताकि हरा भरा हो जाय ये बाग बगीचा , किसान वेचारा रो रोकर आत्म हत्या तक कर लेते है अब तो पिघल जाओ ये काले बादल ,धरती सुखी फट फट कर वेजान पड़ा दृष्टि डालो भूमण्डल पर शुभरात्रि दोस्त श्री राधे ”Radhe”श्रीकृष्ण💐💐
0/400