back
user
संसार मुसाफिरखाना है। जहां से आया वहीं जाना है। यहां मेरा कुछ दिनों का ठिकाना है। मुझे तो बस परमात्मा में खो जाना है।
0/400