back
user
🌿 *हे परमात्मा*, 🙏🏼 *अगर आप का कुछ तोड़ने का मन करे*, तो मेरा गुरूर तोड़ देना.. *अगर आप का कुछ जलाने का मन करे*, तो मेरा क्रोध जला देना.. *अगर आप का कुछ बुझाने का मन करे*, तो मेरी घृणा बुझा देना.. *अगर आप का मारने का मन करे*, तो मेरी इच्छा को मार देना.. *अगर आप का प्यार करने का मन करे*, तो मेरी ओर देख लेना.. ”मैं शब्द, तुम अर्थ, तुम बिन मैं वयथृ 🙏🏻सुप्रभात🌱
user
Replying to @mukkisaini
0/400