back
user
स्वर्ग का सपना छोड़ दो, नर्क का डर छोड़ दो। कौन जाने क्या पाप, क्या पुण्य, बस…………….. किसी का दिल न दुखे, अपने स्वार्थ के लिये बाकी सब कुदरत पर छोड़ दो। 🙏हर हर महादेव सुप्रभात
0/400