back
user
आत्मसम्मान खोकर जो भी चीज़ मिले, वो शोहरत तो दे सकती है, मगर सुकून नहीं दे सकती.।।
0/400