back
user
#कांंग्रेस सभी विपक्षी दल खुलकर उपराष्ट्रपति संंसदीय मर्यादा और संविधान का उल्लंघन कर रहे है कृषिबिल राज्यसभा मे ध्वनिमत से पास हुआ तब तक विपक्ष को पता ही नही था जैसे ही समझ आया तो नशेड़ी मत विभाजन की बात करके अपनी हार की झैंप मिटाने लगे ध्वनिमत से बिल पारित करना सभापति का स्वविवेक अधिकार है लोकतान्त्रिक मूल्यो से उपराष्ट्रपति को यह अधिकार दिया जाता है ऐसे मे असंवैधानिक बताना राज्य सभाका अपमान है
0/400