back
user
कभी किसी के दर्द को दिल से लगा कर देखिए ,जीवन का नजरिया जरा हिला के देखिए कितनी उम्मीद है इन नन्ही आंखों में एक दीपक इनके घरों में जला कर तो देखिए । रुपाली की कलम से
0/400