back
user
राजनीति अजीब पहेली है।मेनका गांधीजी बरुन गाँधी बीजपी के सम्मानित नेता रहे है।इनका योगदान रहा है। बर्तमान माहौल में रिश्ता दरकता नजर आ रहा है।खून पुकार रहा है मेनका जी को, बरुण जी भी रंग में रँगे नजर आ रहे है ।स्वाभिमान व्यक्तिगत है ।अगले up चुनाव क्या रंग दिखायेगा ,नजर लगता है वागी का ही ।हिन्दू जनता तो समर्पित है बीजपी पर।जनता कीमत बता देगी चुनाव मैदान में। हम तमाशा देखेंगें up चुनाव का।
0/400