back
user
ये ??? इनके पावन मुखारविंद निकला हर शब्द ,,,हेड लाइन बन जाती है चाहे झूंठ का पुलिंदा हो या अपशब्द। ओर सच के लिए डींडोरा पीटना पड़ता है। क्या यह सच है। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का यह कैसा सच देश के सर्वोच्च पद का न मान न सम्मान क्या यह भी सच नहीं।।।
0/400