back
user
वक्त से लड़कर जो नसीब बदल दे, इंसान वही जो अपनी तकदीर बदल दे, कल क्या होगा कभी ना सोचे, क्या पता कल वक्त खुद अपनी तस्वीर ही बदल दे
0/400