back
user
सौ जनम में भी नहीं चुका सकते माँ का कर्ज सौभाग्य है संतति का , जो निभाने को मिला ये फ़र्ज़ इनकी अवहेलना करने वालों न कराओ आसुरों में नाम दर्ज इनके चरणों में ही चारो धाम है मतलब की दुनिया में माँ ही बस निष्काम है
0/400