back
user
आज भारत संक्रमण काल के मायाजाल में उलझा हुआ है।मुस्लिग लीग के स्थापना काल ,जिन्ना के अभ्युदय पश्चात जैसी स्थिति ,विभेदकारी हालात उत्त्पन्न होकर समाज मे फलफूल रहा है।प्रबुद्धजन इसपर गम्भीरता से चिन्तन मनन करे।आजादी पश्चात नेहरू,गांधी के द्वारा विष बीज बृक्ष का आकार ले चुका है।वर्तमान में भी छद्म नेता इसे खाद पानी के व्यवश्था कर रहे है,क्यो? स्वार्थ के चश्माधारी नेता,यह देश के प्रति गद्दारी है।
0/400