back
user
यदि किसी मूढ पुरुष को मांस,रुधिर , पीव , विष्ठा , मूत्र , साय , मज्जा और अस्थियों के समूह रूप इस शरीर में प्रीति हो सकती है तो उसे नरक भी प्रिय लग सकता है ॥॥ ।। जय श्री हरि ।।
user
Replying to @Divyavani
0/400