back
user
२४ नवंबर १६७५ :: शायद बहुत कम भारतीयों को याद होगी :: इसी तारीख मुग़ल सम्राट औरग़ज़ेब का दिल्ली में खुला जनता दरबार लगा था :: हज़ारो लोगों की भीड़ साँस रोक कर बेबस आँखों से केवल देख रही थी :: एक २ कर ३ शिष्यों को क्रूर यातना देकर गुरु तेगबहादुरजी के सामने मारा गया ( विवरण लिखने जितनी शक्ति नहीं ) :: गुरूजी से औरंग ने पूछा अब भी इस्लाम करलो ( शर्त अनुसार इनकी हा होने पर पूरा देश इस्लाम ) :: ना बोल
0/400