back
user
हमारा समाज़ हर दबके, हर तरह के लोगों से बना है, लेकिन इस विकास के दौर में हम कुछ लोगों को भूल जाते हैं जो समाज के लिए बेहद ख़ास हैं-जैसे सफाई कर्मचारी और उनकी परेशानी को कोई देखता और समझता नहीं है- इन क्षेत्रों में निजीकरण होने के बाद इनकी सैलरी भी समय पर नहीं आ पाता है और ऐसे लोगों को दूसरे पर आश्रित होना परता है, कृपया मोदी जी इन विषयों पर ज़रूर ध्यान दें l #MannKiBaat
user
Replying to @rahul2246
0/400