back
user
गुरुर मत करो जो आज आपके पास है, वह कल दूर भी हो सकता है और जिसको आप पत्थर समझते हैं, वह कोहिनूर में हो सकता है
0/400