back
user
#कूपेकहो विश्व के छोटे-छोटे देश अपने धर्म संस्कृति संस्कार और परम्पराओं यहां तक कि राष्ट्र धर्म को आज तक बचाए हुए है। फिर भारतीय ता और हिन्दू धर्म व सनातन धर्म पर ,,, में, ,, यह परिवर्तन रुपी कुठाराघात क्यो? क्या लोकतंत्र यही है क्या इसी को लोकतंत्र कहते हैं चुनी हुई सरकार के सामने यह सब जायज है। क्या लोकतांत्रिक व्यवस्था इसी लिए है।। क्या समग्र राष्ट्र के लिए यह यह घातक नहीं।
0/400