back
user
जय श्री राम ये ऐसा क्यो अपनी अयासी मे ३ शादी फिर ३ तलाक ऊपर से राजदरबारी की चाहत रखने वाले बरखुरदार कोनसे काल मे जि रहे हो सनातन मे तो फकीरी मे सब कुछ त्यागकर ही राजगिरी जागीरी हासिल की हे जय श्री राम तप तपस्या का फल
user
Replying to @dadhel
0/400